scorecardresearch
 

MP: कांग्रेस नेता के विवादित बोल, जिन्ना को बताया स्वतंत्रता संग्राम सेनानी

मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा के बयान पर विवाद छिड़ गया है. उन्होंने जिन्ना को स्वतंत्रता सेनानी बता दिया है. बीजेपी के तमाम नेता पर उन पर हमलावर हो गए हैं.

X
कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा
कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखंड भारत पर कांग्रेस नेता का विवादित बयान
  • पीएम मोदी-मोहन भागवत पर कर दी टिप्पणी

देश में जिन्ना को लेकर राजनीति ना चुनाव के समय थमती है और ना ही चुनाव के बाद इस पर विराम लगता है. अब मध्य प्रदेश में जिन्ना विवाद उछाल दिया गया है. मध्य प्रदेश के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री और कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने जिन्ना को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बताया है. उनके इस बयान के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला बोला है. 

सज्जन सिंह वर्मा आगर-मालवा में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान पत्रकारों ने पूछा कि आपने हाल ही में जिन्ना को जिन्ना साहब क्यों कहा था? इसका जवाब देते हुए सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि 'जिन्ना ने देश तोड़ा नहीं उन्होंने तो भला किया. पढ़े लिखे लोगों के दिमाग मे भी यही है कि देश तोड़ दिया. अरे उन्होंने तो तुमको खड़े होने की जगह दी. मैं तो पत्रकारों से पूछता हूं कि क्या जिन्ना ने स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा लिया या नहीं? क्या वह स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे या नहीं?' सज्जन सिंह वर्मा ने मोहन भागवत के अखंड भारत बनाने के बयान पर भी की टिप्पणी करते हुए कहा कि यदि पाकिस्तान, इंडोनेशिया और बंगलादेश के मुसलमान अखंड भारत मे आ गए तो मोदीजी और भागवतजी आपको खड़े रहने की जगह नहीं मिलेगी. 

सज्जन वर्मा के इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर हमला बोला है. मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'जिन्ना में गन्ना सी मिठास ढूँढने के निर्देश जयपुर में आयोजित काँग्रेस के चिंतन शिविर से काँग्रेसी नेताओ को मिले हैं. इसलिए सज्जन वर्मा जी जिन्ना जिन्ना के राग अलाप रहे हैं, जिन्ना को महापुरुष बता रहे हैं. यदि ऐसा है तो जिन्ना को कांग्रेस अपना आदर्श पुरुष क्यों नही बना लेती?'

वैसे जिस विवाद पर मध्य प्रदेश में विवाद छिड़ा है, कुछ समय पहले तक यूपी चुनाव के दौरान हर रैली में इस मुद्दे को उठाया गया था. जब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने जिन्ना और महात्मा गांधी की तुलना कर दी थी, तब बीजेपी ने इसे बड़ा मुद्दा बनाते हुए पूरे चुनाव को ही उस पर केंद्रित कर लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें