scorecardresearch
 

IMD Rainfall Alert: इस राज्य में बदलने वाला है मौसम का मिजाज, दो दिन बाद से शुरू होगी भारी बारिश

Weather Forecast: एक जून से 31 जुलाई तक झारखंड में कुल बारिश की कमी 49 फीसदी थी, जो 8 सितंबर को घटकर 26 प्रतिशत हो गई. 1 जून से 8 सितंबर तक राज्य में 642.4 मिमी वर्षा हुई, जबकि सामान्य वर्षा 866.2 मिमी थी. 24 जिलों में से सात में सामान्य बारिश हुई है.

X
Jharkhand Rain Update
Jharkhand Rain Update

Jharkhand Rainfall Update: बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण झारखंड में 11 सितंबर से एक बार फिर भारी बारिश हो सकती है. 1 जून से शुरू हुए मॉनसून सीजन के दौरान बंगाल की खाड़ी के ऊपर बनने वाली यह छठी ऐसी प्रणाली होगी.

मॉनसून के बाद की अवधि में भारी बारिश के कारण समग्र वर्षा की कमी में कमी आई है. रांची मौसम विज्ञान केंद्र के प्रभारी अभिषेक आनंद ने 'पीटीआई' को बताया, ''पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बना है. अगले 48 घंटों के दौरान इसके और अधिक चिह्नित होने की संभावना है. सिस्टम की वजह से 11 और 12 सितंबर को राज्य के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.''

उन्होंने आगे कहा, "दक्षिणपूर्वी, उत्तरी और मध्य झारखंड में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है. इसका बड़ा असर पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां जिलों में होगा." अगस्त में अच्छी बारिश के कारण मॉनसून के पहले दो महीनों में तीव्र बारिश की कमी कम हो गई है.

बता दें कि 1 जून से 31 जुलाई तक झारखंड में कुल बारिश की कमी 49 फीसदी थी, जो 8 सितंबर को घटकर 26 प्रतिशत हो गई. 1 जून से 8 सितंबर तक राज्य में 642.4 मिमी वर्षा हुई, जबकि सामान्य वर्षा 866.2 मिमी थी. 24 जिलों में से सात में सामान्य बारिश हुई है, जबकि 15 जिलों में बारिश की कमी है और दो में गंभीर कमी है. पाकुड़ 67 फीसदी बारिश की कमी के साथ सबसे बुरी तरह प्रभावित है, इसके बाद साहिबगंज में 62 फीसदी बारिश हुई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें