scorecardresearch
 

राहुल गांधी को चिट्ठी में छलका अजय कुमार का दर्द, साथी नेताओं को जमकर सुनाई

डॉ अजय कुमार भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रह चुके हैं. जमशेदपुर से माफियाओं का सफाया करने में उनका रोल काफी अहम माना जाता है.

डॉ अजय कुमार ने झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष पद दिया इस्तीफा (फोटो-Twitter/INCIndia) डॉ अजय कुमार ने झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष पद दिया इस्तीफा (फोटो-Twitter/INCIndia)

झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देते हुए डॉ अजय कुमार ने राहुल गांधी को बेहद भावुक चिट्ठी लिखी है. झारखंड कांग्रेस में गहरी गुटबाजी, मारपीट की नौबत के बाद डॉ अजय कुमार ने इस्तीफा दे दिया है. राज्य में कुछ ही महीने बाद विधानसभा चुनाव है. इस बीच डॉ अजय कुमार का इस्तीफा कांग्रेस के लिए धक्के की तरह आया है.

अपने पत्र में डॉ अजय कुमार ने सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बालमुचू, फुरकान अंसारी जैसे नेताओं का नाम लेकर कहा है कि इन लोगों ने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए पार्टी के हित को ताक पर रख दिया है. डॉ अजय कुमार ने कहा है कि झारखंड कांग्रेस के कई नेता घटिया अपराधियों से भी गए गुजरे हैं.

डॉ अजय कुमार ने राहुल गांधी को लिखे अपने पत्र में कहा है, " हमारी पार्टी के कुछ नेता जैसे सुबोधकांत सहाय, रामेश्वर उरांव, प्रदीप बालमुचु, चंद्रशेखर दुबे, फुरकान अंसारी राजनीतिक पदों को हथियाने में लगे हैं तथा व्यक्तिगत लाभ के लिए पार्टी हित को ताक पर रखने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं."

पार्टी नेताओं पर खुद पर हमले करवाने का आरोप लगाते हुए डॉ अजय कुमार ने कहा, "सुबोधकांत सहाय जैसे तथाकथित कद्दावर नेता का पार्टी प्रदेश मुख्यालय में किन्नरों से उत्पात मचाने के लिए प्रोत्साहित करना एक बेहद स्तरहीन और घटिया हरकत थी."

डॉ अजय कुमार भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रह चुके हैं. जमशेदपुर में माफिया का सफाया करने में उनका रोल काफी अहम माना जाता है. राहुल गांधी को लिखे पत्र में अजय कुमार ने कहा, "मैं पूरे आत्मविश्वास से कह सकता हूं कि खराब से खराब अपराधी भी मेरे इन सहयोगियों से बेहतर हैं."

इस बीच डॉ अजय के इस्तीफे के बाद चर्चा है कि कई बड़े नेता पार्टी छोड़ सकते हैं. बरही विधायक मनोज यादव समेत कुछ और नेता लगातार बीजेपी के संपर्क में है. सूत्रों का कहना है कि विधानसभा चुनाव में पार्टी की खराब हालत को देखते हुए कई पार्टी नेता पाला बदल सकते हैं. बता दें झारखंड कांग्रेस वर्षों से गुटबाजी और नेताओं के बीच आपसी प्रतिस्पर्द्धा का शिकार रही है.

झारखंड में अब चर्चा इस बात की है कि कांग्रेस आलाकमान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सुखदेव भगत को दे सकती है. सुखदेव भगत आदिवासी समुदाय से आते हैं. चर्चा यह भी है कि कांग्रेस आलाकमान के विश्वस्त रहे आलमगीर आलम को भी झारखंड कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें