scorecardresearch
 

हैदराबाद: सिलेबस में शामिल हुआ कश्मीरी 'डल गर्ल' का नाम, PM मोदी ने भी की थी तारीफ

जन्नत सिर्फ पांच साल की थी जब उसने डल झील को साफ करना शुरू किया. 2018 में डल झील की सफाई करते हुए जन्नत का एक वीडियो वायरल हुआ था. ये वीडियो जन्नत ने पिता ने ही शूट किया था.

जन्नत (फोटो- शुजा उल हक) जन्नत (फोटो- शुजा उल हक)

  • जन्नत की कहानी हैदराबाद में पाठ्यक्रम का हिस्सा बन गई
  • पीएम मोदी ने भी इस छोटी सी बच्ची की काफी तारीफ की थी

सात वर्षीय जन्नत कई लोगों के लिए प्रेरणा है. बहुत कम उम्र में वह श्रीनगर की डल झील को साफ करने का प्रयास कर रही है. उनके इस काम को किसी और ने नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री ने खुद स्वीकृति दी है. अब जन्नत बहुत खुश है क्योंकि उसकी कहानी हैदराबाद में पाठ्यक्रम का हिस्सा बन गई है.

जन्नत को लगता है कि ये मैसेज भविष्य में पर्यावरण को साफ रखने अहम भूमिका निभाएगा. जन्नत ने कहा, 'ये अच्छा है. लोगों को डल झील को साफ रखना चाहिए. तभी यहां कोई सैलानी आएगा. यही वजह है कि इसकी सफाई करने के कारण मेरा नाम पाठ्यपुस्तकों में शामिल किया गया है.'

पहले चीनी कंपनियों के ठेकों पर वार, अब 59 ऐप बैन, गलवान के बाद भारत ने चीन को ऐसे दी चोट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी की थी तारीफ

जन्नत कई लोगों के लिए प्रेरणास्रोत है, लेकिन उसके लिए प्रेरणास्रोत उसके पिता है. जन्नत के पिता ने उसे डल झील को साफ रखने का महत्व बताया था. जन्नत के पिता फारूक अहमद ने कहा, 'मैं बहुत खुश था जब मुझे पता चला कि मेरी बेटी का नाम पाठ्यपुस्तक में आया है. वह स्मार्ट लड़की है और मुझे विश्वास है कि कई जगहों पर जाएगी. पर्यावरण को लेकर वह काफी संवेदनशील भी है.'

कोरोना काल में छठी बार देश को संबोधित करेंगे मोदी, अबतक ये ऐलान किए

जन्नत सिर्फ पांच साल की थी जब उसने डल झील को साफ करना शुरू किया. 2018 में डल झील की सफाई करते हुए जन्नत का एक वीडियो वायरल हुआ था. ये वीडियो जन्नत ने पिता ने ही शूट किया था. वीडियो वायरल होने के पीछे उसका मैसेज भी था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस छोटी सी बच्ची की काफी तारीफ की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें