scorecardresearch
 

जम्मू-कश्मीर: बडगाम में बीजेपी कार्यकर्ता पर आतंकी हमला, पेट में लगी गोली

आतंकियों ने नजर पर रेलवे स्टेशन के पास फायरिंग की जब वे मॉर्निंग वॉक पर थे. फायरिंग में बीजेपी कार्यकर्ता घायल हैं. कार्यकर्ता को पेट में गोली लगी है. घटना के तुरंत बाद अब्दुल हमीद नजर को एसएमएचएस अस्पताल में दाखिल कराया गया है जहां उनका इलाज चल रहा है.

अब्दुल हमीद नजर अब्दुल हमीद नजर

  • मॉर्निंग वॉक पर निकले बीजेपी कार्यकर्ता पर हमला

  • आतंकियों ने बीजेपी कार्यकर्ता के पेट में मारी गोली

जम्मू-कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक कार्यकर्ता पर आतंकियों ने हमला कर दिया. रविवार को हुए इस हमले में बीजेपी कार्यकर्ता घायल बताया जा रहा है. बता दें, हाल के दिनों में कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं में इजाफा हुआ है.

हमले की ताजा घटना रविवार सुबह की है. मध्य कश्मीर के बड़गाम जिले में आतंकियों ने बीजेपी कार्यकर्ता को गोली मार कर जख्मी कर दिया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आतंकियों ने बीजेपी कार्यकर्ता अब्दुल हमीद नजर (38) पर हमला किया. घायल कार्यकर्ता मेहिदपोरा का रहने वाला है जिसके पिता का नाम जमाल नजर है.

सूत्रों ने बताया कि आतंकियों ने नजर पर रेलवे स्टेशन के पास फायरिंग की जब वे मॉर्निंग वॉक पर थे. फायरिंग में बीजेपी कार्यकर्ता घायल है. कार्यकर्ता को पेट में गोली लगी है. घटना के तुरंत बाद अब्दुल हमीद नजर को एसएमएचएस अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है.

हाल के दिनों में कश्मीर में कई बीजेपी सरपंचों पर आतंकी हमले की खबरें सामने आई हैं. 6 अगस्त को कुलगाम जिले के काजीगुंड ब्लॉक के वेस्सु गांव में बीजेपी सरपंच सजाद अहमद पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. सरपंच को तुरंत हॉस्पिटल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. इन घटनाओं को देखते हुए कई बीजेपी नेता पार्टी और पद से इस्तीफा दे रहे हैं. बीते कुछ दिनों में जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के चार नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है. कुलगाम के देवसर से बीजेपी सरपंच ने तीन दिन पहले अपना इस्तीफा दे दिया. इससे पहले बीजेपी नेताओं सबजार अहमद पाडर, निसार अहमद वानी और आशिक हुसैन पाला ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

बीजेपी नेताओं के इस्तीफे की वजह कुलगाम में सरपंचों पर हुए जानलेवा हमलों को बताया जा रहा है. सबजार अहमद पाडर, निसार अहमद वानी और आशिक हुसैन पाला ने निजी कारणों से बीजेपी छोड़ दी और ऐलान किया कि उनका आगे अब बीजेपी से कोई नाता नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें