scorecardresearch
 

J-K: राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले- एक दिन आएगा, PoK वाले बोलेंगे भारत में मिला लो

गवर्नर मलिक ने कहा कि एक दिन आएगा जब पीओके के लोग एलओसी पार कर जाएंगे और पीओके के एकीकरण की मांग करेंगे.

सत्यपाल मलिक (फाइल फोटो) सत्यपाल मलिक (फाइल फोटो)

  • मलिक ने कहा- एक दिन पीओके के लोग एलओसी पार कर जाएंगे
  • गवर्नर ने कहा- लोग खुद पीओके के एकीकरण की मांग करेंगे

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तल्खी बढ़ गई है. इस बीच नरेंद्र मोदी के कैबिनेट मंत्री लगातार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) को देश का अभिन्न हिस्सा बनाने की बात कहते दिख रहे हैं. इस कड़ी में अब जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का पक्ष भी सामने आया है.

PoK को देश का अभिन्न अंग बनाने की बात पर जोर देते हुए गवर्नर मलिक ने कहा कि मोदी सरकार ने उन्हें जम्मू और कश्मीर में बड़े पैमाने पर विकास कार्य करने का निर्देश दिया है. मलिक जम्मू में कैंसर संस्थान के शिलान्यास समारोह के अवसर पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि एक दिन आएगा जब पीओके के लोग नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करेंगे और पीओके के एकीकरण की मांग करेंगे.

मलिक ने कहा, 'देश की आखों में, राज्यपाल ऐसा व्यक्ति होता है जो गोल्फ खेलता है और जनता के लिए कुछ नहीं करता. मगर पिछले 1 साल में हमने जितना काम किया है, मुझे नहीं लगता कि किसी चुनी हुई सरकार ने भी उतना काम किया होगा.'

मलिक जब यह बात बोल रहे थे तब केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह भी वहां मौजूद थे. बता दें कि जितेंद्र सिंह ने हाल में ही कहा था कि हमारा अगला एजेंडा पीओके को भारत का अभिन्न हिस्सा बनाना है.

क्या बोले थे जितेंद्र सिंह?

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा था कि हमारा अगला एजेंडा POK को भारत में मिलाना है. सिंह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुद्दे पर कहा था, 'यह केवल मेरी या मेरी पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है बल्कि यह 1994 में पी. वी. नरसिंह राव के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा सर्वसम्मति से पारित संकल्प है. यह एक स्वीकार्य रुख है.'

वहीं जितेंद्र सिंह के बयान के बाद सेना प्रमुख बिपिन रावत ने भी कहा था कि सेना किसी भी अभियान के लिए हमेशा तैयार है. उन्होंने यह बात एक सवाल के जवाब में कही थी. पीओके से संबंधित सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा कि पीओके पर सरकार जैसा फैसला करेगी संस्थाएं उनके मुताबिक काम करेंगी. सेना सरकार के किसी भी अभियान के लिए पूरी तरह तैयार है.

सेना प्रमुख के अलावा केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने भी कहा था कि पीओके के लिए एक विशेष रणनीति है. हम उसे यहां सार्वजनिक रूप से नहीं बोल सकते. वीके सिंह ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में कहा कि पीओके पर हमारी रणनीति है, लेकिन इसका सार्वजनिक रूप से खुलासा नहीं किया जा सकता.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें