scorecardresearch
 

धर्मशाला: चीन के खिलाफ विरोध तेज, तिब्बतियों ने दुनिया से मांगी मदद

प्रदर्शन के दौरान तेनजिन खांडो ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि हम चाहते हैं कि विश्व बिरादरी और दुनिया के तमाम संगठन चीन के खिलाफ एकजुट हों और तिब्बत की ऐसी दशा के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराएं.

चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन (ANI) चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन (ANI)

  • चीन के खिलाफ एकजुटता की अपील
  • विश्व बिरादरी से मदद की गुहार

हिमाचल प्रदेश में रह रहे निर्वासित तिब्बती नागरिकों ने चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज कर दिया है. इन नागरिकों ने शुक्रवार को धर्मशाला में बड़ा विरोध मार्च निकाला और चीन की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद की.

धर्मशाला में शनिवार को इस विरोध प्रदर्शन की अगुआई सेंट्रल तिब्बतन वुमंस एसोसिएशन ने की. प्रदर्शन के दौरान तेनजिन खांडो ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि हम चाहते हैं कि विश्व बिरादरी और दुनिया के तमाम संगठन चीन के खिलाफ एकजुट हों और तिब्बत की ऐसी दशा के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराएं.

तिब्बत में चीन के खिलाफ काफी पहले से विरोधी लहर है. हालांकि चीन इस विरोध को वहां टिकने नहीं देता. लिहाजा, जो लोग विरोध करने वाले हैं वे या तो चुप हैं या कहीं और शरण लिए हुए हैं. तिब्बत के कई नागरिकों ने हिमाचल प्रदेश में शरण ली है. हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में इनकी अच्छी खासी संख्या है. तिब्बती निर्वासित नागरिक अक्सर चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज करते रहते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें