scorecardresearch
 

Rohingya Camps पर हरियाणा पुलिस की ताबड़तोड़ छापेमारी, DSP हत्याकांड से जुड़ रहे तार!

हरियाणा के नूंह में हुई डीएसपी सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस रोहिंग्या शिविरों पर भी जांच कर रही है. पुलिस के मुताबिक जांच अभियान नूंह, शाहपुर नंगली, पुन्हाना, चंदेनी और फिरोजपुर नमक में स्थित रोहिंग्या शिविरों में चलाया गया.

X
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

हरियाणा के डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई हत्याकांड में पुलिस ने रोहिंग्या शिविरों पर छापेमारी की है. तलाशी अभियान के दौरान पुलिस ने जांच के लिए 30 गाड़ियों को जब्त किया है. पुलिस आगे की जांच कर रही है. पुलिस के मुताबिक जांच अभियान नूंह, शाहपुर नंगली, पुन्हाना, चंदेनी और फिरोजपुर नमक में स्थित रोहिंग्या शिविरों में चलाया गया. इन जगहों पर पिछले कई महीनों से कुल 1,771 रोहिंग्या रह रहे हैं.

पुलिस ने मंगलवार को विशेष जांच अभियान चलाया. नूंह छापेमारी के बाद पुलिस अधीक्षक  ने कहा, 'हमारे पास रोहिंग्याओं का सारा डेटाबेस है. हम सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि इन शिविरों में कोई असामाजिक तत्व यहां पनाह तो नहीं ले रहा'. एसपी ने आगे कहा कि अवैध खनन से जुड़े अपराधियों को पकड़ने के लिए छापेमारी जारी रहेगी.

एसपी सिंगला ने आगे कहा कि डीएसपी की हत्या के बाद अब तक 33 गांवों में छानबीन की गई है. 361 संदिग्ध वाहनों को जब्त किया गया है. इनमें से मोटर वाहन अधिनियम के तहत 268 वाहनों का चालान किया गया है, जबकि अवैध खनन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले डंपर ट्रक, हेवी अर्थ मूविंग मशीन और अन्य सहित 61 वाहनों को जब्त किया गया है.

रोहिंग्या शिविरों की जांच कर रही पुलिस टीम 30 संदिग्ध वाहनों को नूंह सदर और सिटी थाने में सत्यापन के लिए ले गई. इन वाहनों में 17 मोटरसाइकिल, 11 रेहड़ी-बाइक और 2 दोपहिया वाहन शामिल हैं.

इस बीच, पुलिस ने डीएसपी सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है. आरोपी की पहचान पचगांव गांव निवासी अब्बास के रूप में हुई है. मामले में गिरफ्तारियों की कुल संख्या 9 पहुंच गई है.

बता दें कि अरावली की पहाड़ियों में अवैध खनन पर छापामारी करने पहुंचे डीएसपी सुरेंद्र सिंह की नूंह जिले में ट्रक से कुचलकर हत्या कर दी गई थी.वह छापामारी करने टौरू के पास पचगांव गए थे. पुलिस ने डीएसपी की हत्या में इस्तेमाल किए गए डंपर पर खनन के बाद पत्थर लोड करने वाले ग्रामीणों की भी पहचान कर ली है.

इंस्पेक्टर नरेश कुमार ने बताया कि हाल ही में गिरफ्तार किए गए 2 आरोपियों अरशद और अब्बास से दो दिन की पुलिस रिमांड पर पूछताछ की जा रही है, जबकि सात अन्य आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

अवैध खनन रोकने गए थे DSP सुरेंद्र सिंह

बता दें कि 18 जुलाई की रात DSP सुरेंद्र सिंह बिश्नोई नूंह में अवैध खनन की घटना की जांच के लिए गए थे, जिनकी डंपर चालक ने कुचलकर हत्या कर दी थी. बताया गया कि डीएसपी सुरेंद्र के साथ एक गनमैन और एक ड्राइवर भी था. डीएसपी को जानकारी मिली थी कि अवैध खनन हो रहा है. वह मौके पर पहुंचे. उन्होंने खनन कर रहे लोगों को रोकने की कोशिश की. तब ही डीएसपी पर गाड़ी चढ़ा दी गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें