scorecardresearch
 

अर्जुन मोढवाडिया ने पूछा- PM अलगाववादियों से बात कर सकते हैं पर हार्दिक से क्यों नहीं

हार्दिक पटेल ने पाटीदार आंदोलन के तीन वर्ष पूरा होने के अवसर पर 25 अगस्त से अनशन शुरू किया है. अहमदाबाद और गांधीनगर के अधिकारियों द्वारा हार्दिक को अनशन के लिए स्थान देने से इनकार के बाद हार्दिक घर पर ही अनशन कर रहे हैं.

हार्दिक पटेल से मिलने पहुंचे कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल से मिलने पहुंचे कांग्रेस नेता

पाटीदार समुदाय के लोगों को शिक्षा तथा नौकरियों में आरक्षण देने की मांग कर रहे नेता हार्दिक पटेल का अनिश्चितकालीन अनशन शुक्रवार को सातवें दिन पर पहुंच गया. हार्दिक ने बताया कि अब उन्होंने जल ग्रहण करना भी बंद कर दिया है. वहीं गुजरात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया एवं उनके साथी विधायक शैलेष भाई परमार, विधायक हिम्मत सिंह पटेल, पूर्व सांसद विक्रमभाई माडम और सामाजिक कार्यकर्ता एवं पूर्व विधायक डॉ. कनुभाई कलसरिया हार्दिक पटेल से मिलने पहुंचे. ‬

हार्दिक ने एक बयान में कहा कि हालांकि उन्होंने भोजन और पानी लेना बंद कर दिया है, लेकिन वह महात्मा गांधी के मार्ग पर चलते हुए तब तक लड़ाई जारी रखेंगे जब तक उन्हें विजय प्राप्त नहीं हो जाती.

हार्दिक से मुलाकात के बाद मोढवाडिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सरकार अलगाववादियों से बातचीत का सकती है तो हार्दिक से क्यों नहीं. उन्होंने प्रश्न किया, मैं गुजरात और केंद्र सरकार से हार्दिक से बातचीत करने और समाधान निकालने का अनुरोध करता हूं. अगर हमारे प्रधानमंत्री पाकिस्तान जा कर (पूर्व प्रधानमंत्री) नवाज शरीफ से मुलाकात कर सकते हैं, अगर अलगाववादियों से बातचीत हो सकती है तो हार्दिक के साथ क्यों नहीं?' वहीं कलसारिया ने आरोप लगाया कि पुलिस लोगों को हार्दिक के आवास पर आने से रोक रही है.

गौरतलब है कि हार्दिक ने पाटीदार आंदोलन के तीन वर्ष पूरा होने के अवसर पर 25 अगस्त से अनशन शुरू किया है. अहमदाबाद और गांधीनगर के अधिकारियों द्वारा हार्दिक को अनशन के लिए स्थान देने से इनकार के बाद हार्दिक घर पर ही अनशन कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें