scorecardresearch
 

पैगंबर विवाद पर बोले AIMIM चीफ ओवैसी- देश के कानून के तहत नूपुर शर्मा को मिले सजा

हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने शनिवार को गुजरात के मुस्लिम स्कॉलर्स से डिजिटली बातचीत की. इस दौरान ओवैसी ने साफ किया कि उनकी पार्टी का ऑफिशियल स्टेटमेंट है कि देश के कानून के तहत नूपुर शर्मा को सजा होनी चाहिए. 

X
AIMIM चीफ ओवैसी (फाइल फोटो)
AIMIM चीफ ओवैसी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई पर बोले ओवैसी
  • देश के कानून के तहत सजा मिले

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पैगंबर विवाद में नूपुर शर्मा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि देश का कानून सुप्रीम है. कानून के हिसाब से ही नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. 

हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने शनिवार को गुजरात के मुस्लिम स्कॉलर्स से डिजिटली बातचीत की. इस दौरान ओवैसी ने साफ किया कि उनकी पार्टी का ऑफिशियल स्टेटमेंट है कि देश के कानून के तहत नूपुर शर्मा को सजा होनी चाहिए. 

वोटबैंक के तौर पर हैं कश्मीरी पंडित 

इसके अलावा ओवैसी ने कश्मीरी पंडितों को लेकर कहा कि उन्हें सिर्फ वोटबैंक के रूप में ही देखा जाता है. उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों को जब मारा जा रहा है तो देश के प्रधानमंत्री का बयान क्यूं नहीं आता. कश्मीरी पंडित को वहां सिर्फ वोटबैंक के तौर पर देखा जा रहा है. ये सरकार की नाकामी है. कश्मीर घाटी में पंडितों को अगर आंतकी मारता है तो सरकार आतंकी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करती है. जब उनके जीवन को खतरा है तो सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया क्यों नहीं कराती है. 

शुक्रवार को हुए देशभर में प्रदर्शन

बता दें कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद देश के कई शहरों में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था. इस दौरान कई शहरों में प्रदर्शन हिंसक हो गया और कई जगहों पर पत्थरबाजी भी की गई. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग और आंसू गैस के गोले भी छोड़े. सबसे ज्यादा हालात झारखंड की राजधानी रांची, बंगाल के हावड़ा, यूपी के प्रयागराज में बिगड़ गए. जहां पत्थरबाजी में कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें