scorecardresearch
 

गुजरात: कांग्रेस नेता भरत सिंह सोलंकी का पब्लिक नोटिस, कहा- मेरे नाम पर मेरी पत्नी से डील ना करें

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और यूपीए सरकार (UPA Government) में मिनिस्टर ऑफ स्टेट रहे भरत सिंह सोलंकी (BharatSinh Solanki) ने मंगलवार को अपने वकील के जरिए एक पब्लिक नोटिस (Public Notice) अखबार में इश्तहार के तौर पर जारी कराया है.

कांग्रेस नेता भरत सिंह सोलंकी. कांग्रेस नेता भरत सिंह सोलंकी.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रेशमा पटेल पिछले 4 साल से मेरे साथ नहीं रहती हैं- सोलंकी
  • पत्नी संग रिश्ते में खटास बढ़ती जा रही- सोलंकी
  • सोलंकी बोले- वह मेरी मुसीबतों को बढ़ाना चाहती है

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और यूपीए सरकार (UPA Government) में मिनिस्टर ऑफ स्टेट रहे भरत सिंह सोलंकी (BharatSinh Solanki) ने मंगलवार को अपने वकील के जरिए एक पब्लिक नोटिस (Public Notice) अखबार में इश्तेहार के तौर पर जारी कराया है.

नोटिस में लिखा गया है, मेरी पत्नी रेशमा पटेल पिछले 4 साल से मेरे साथ नहीं रहती हैं और मेरी बातों को सुनती नहीं हैं. मेरी पत्नी के साथ मेरे नाम से किसी भी तरह का पैसों का लेना-देना ना करें,  अगर करते हैं तो उसके लिए भरत सिंह सोलंकी जिम्मेदार नहीं होंगे.

भरत सिंह सोलंकी ने अपने वकील के जरिए दिए इस नोटिस में लिखा है कि हम दोनों के बीच में पिछले लंबे वक्त से किसी भी तरह का कोई संबंध नहीं है. रेशमा पटेल अपने हिसाब से बर्ताव करती है, वह मेरे घर पर भी आ कर रहती हैं, तब भी कोई बातचीत नहीं होती.

शुरुआत में मैंने समझा कर मामले को सुलझाने का काफी प्रयास किया लेकिन ऐसा नहीं हुआ, इसके बाद हमारे परिवार के लोगों ने भी मध्यस्था करते हुए मामले को सुलझाने की कोशिश की लेकिन कुछ भी नहीं हुआ. मुझे डर है कि वह मेरी मुसीबतों को बढ़ाना चाहती हैं.

इसपर भी क्लिक करें- गुजरात के अखबारों में दिल्ली सरकार के विज्ञापन, राज्य के विधानसभा चुनाव पर AAP की नजर

इस मामले में जब भरत सिंह सोलंकी से बात की गई तो उन्होंने कहा की मैंने तलाक लेने की भी बात कही थी लेकिन उन्होंने तलाक लेने से इनकार कर दिया. मैंने उनके रहने के लिए बंगला, गाड़ी और महीने के एक से डेढ़ लाख रुपए दे रहा हूं लेकिन इसका मेरी पत्नी पर कोई सकारात्मक असर नहीं हो रहा है. हम दोनों के बीच के रिश्ते और भी कड़वे हो रहे हैं और जो दरार है वह बढ़ रही है. जिस वजह से मैंने इस रिश्ते से बाहर निकलने का फैसला किया है. इस बात से मुझे बतौर नेता व्यक्तिगत तौर पर नुकसान होने का भी डर है लेकिन मेरे लिए जो काम नुकसान करता है वह रास्ता चुनना ही मुझे योग्य लगा इसलिए मैंने नोटिस भेजा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें