scorecardresearch
 

गुजरात विधानसभा में नितिन पटेल ने जवाहर लाल नेहरू को लेकर दिया बयान, आग बबूला हुई कांग्रेस

गुजरात विधानसभा में महत्वाकांक्षी कल्पसर परियोजना (Kalpsar) पर चर्चा चल रही थी. इसी दौरान गुजरात सरकार में जल संसाधन मंत्री ऋषिकेश पटेल ने सरदार सरोवर बांध में देरी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया.

X
गुजरात के पूर्व डिप्टी सीएम नितिन पटेल (फाइल फोटो)
गुजरात के पूर्व डिप्टी सीएम नितिन पटेल (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटेल बोले- सरदार सरोवर बांध सरदार पटेल का सपना था
  • कांग्रेस ने पटेल के बयान पर किया हंगामा

गुजरात विधानसभा में बीजेपी नेता नितिन पटेल के भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर दिए बयान को लेकर विवाद मच गया. दरअसल, गुजरात के पूर्व डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू को नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बांध के लिए लिए क्रेडिट नहीं दिया जा सकता. पटेल के इस बयान के बाद कांग्रेस विधायकों ने सदन में जमकर हंगामा किया और सदन में नारेबाजी भी की. 

दरअसल, गुजरात विधानसभा में महत्वाकांक्षी कल्पसर परियोजना (Kalpsar) पर चर्चा चल रही थी. इसी दौरान गुजरात सरकार में जल संसाधन मंत्री ऋषिकेश पटेल ने सरदार सरोवर बांध में देरी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया. 

इस पर कांग्रेस विधायक सीजे चावड़ा ने आपत्ति जताते हुए कहा कि वह कांग्रेस सरकार ही थी, जिसने उस समय कई समस्याओं का सामना करने के बावजूद 85 मीटर की ऊंचाई तक बांध बनाया था. इस पर जवाब देते हुए नितिन पटेल ने कहा, सरदार सरोवर बांध सरदार वल्लभभाई पटेल का सपना था. लेकिन जवाहरलाल नेहरू ने इसकी नींव रखी, इसलिए बांध के लिए नेहरू को श्रेय देने की जरूरत नहीं है.

नितिन पटेल के इस बयान पर कांग्रेस के विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया. कांग्रेस विधायक वेल में आकर बीजेपी और पटेल के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. कांग्रेस विधायक नेहरू के खिलाफ बयान को लेकर पटेल से माफी की मांग कर रहे थे. कांग्रेस विधायक पटेल को बोलने भी नहीं दे रहे थे. 

जब पटेल ने फिर बोलने की कोशिश की, तो कांग्रेस विधायक नौशाद सोलंकी और राजेश गोहेल पटेल की ओर बढ़े और माफी की मांग की. इसके बाद सदन में मार्शल उन्हें पीछे ले गए. हंगामे के बीच 15 मिनट के लिए सदन को स्थगित करना पड़ा. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें