scorecardresearch
 

गुजरात में कोरोना संक्रमण के चलते हुई तीसरी मौत, कुल पॉजिटिव केस हुए 43

गुजरात के भावनगर में कोरोना से एक 70 साल के पुरुष की मौत हो गई. जिसके बाद वहां कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर तीन हो गई है.

गुजरात में कोरोना से संक्रमित मरीजों का चल रहा है इलाज (फाइल फोटो) गुजरात में कोरोना से संक्रमित मरीजों का चल रहा है इलाज (फाइल फोटो)

  • गुजरात के भावनगर में कोरोना से संक्रमित 70 वर्षीय शख्स की मौत
  • कोरोना का पहला मामला सूरत और दूसरा अहमदाबाद से आया था

भारत में कोरोना का खतरा दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है. देश में जहां कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 650 के पार जा चुकी है तो वहीं गुजरात में कोरोना के चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 43 तक पहुंच चुकी है. जबकि गुजरात में कोरोना से मरने वालों की संख्या अब एक और मौत के साथ बढ़कर तीन हो चुकी है.

बता दें कि गुजरात के भावनगर में कोरोना से एक 70 साल के पुरुष की मौत हो गई है, जिसके बाद राज्य में मौत का आंकड़ा बढ़कर तीन हो गया. गुजरात में सबसे पहला कोरोना से मौत का मामला सूरत से जबकि दूसरा अहमदाबाद से आया था. गुजरात में अब तक कोरोना वायरस के मामले सबसे ज्यादा अहमदाबाद से ही सामने आए हैं.

जिलेवार कोरोना पॉजिटिव केस

अहमदाबाद- 16

सूरत- 07

राजकोट- 04

वडोदरा- 08

गांधीनगर- 06

भावनगर- 01

कच्छ- 01

इस तरह अब तक कुल मिलाकर 43 पॉजिटीव केस सामने आए हैं. गुजरात में अब तक 31,495 लोग क्वारनटीन है, जिसमें से कई लोग सरकारी अस्पताल में क्वारनटीन हैं जबकि कई लोग होम क्वारनटीन हैं.

गुजरात की स्वास्थ्य सचिव डॉ. जयंति रवि ने बताया कि गुजरात के 4 महानगरों में कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए खास अस्पताल कार्यान्वित है. इसके तहत अहमदाबाद में 1200 बेड, सूरत में 500 बेड, वडोदरा में 250 बेड और राजकोट में 250 बेड की सुविधा है.

साथ ही सरकारी अस्पताल में 1583 आइसोलेशन बेड जबकि निजी अस्पताल में 635 बेड की सुविधा की गई है. इसके अलावा अन्य बेड की व्यवस्था गुजरात सरकार कर रही है. सरकारी अस्पताल में 609 वेंटिलेटर उपल्बध हैं, जबकि निजी अस्पताल में 1500 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं.

ये भी पढ़ें- क्या 21 दिन से आगे भी बढ़ सकती है लॉकडाउन की मियाद? सरकार की तैयारी से लग रहे कयास

कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में 21 दिन का लॉकडाउन है. लॉकडाउन के कारण गुजरात में भी सारी दुकानें, मॉल मल्टीप्लेक्स, रेस्टोरेंट्स सबकुछ बंद हैं. सिर्फ रोज की जरूरी चीजों की दुकानें खुल रही हैं.

वहीं, कोरोना वायरस के संक्रमण और लॉकडाउन के बीच गुजरात सरकार ने तीन करोड़ गरीबों को 01 अप्रैल से मुफ्त में राशन देने का फैसला किया है. ताकि लॉकडाउन में गरीबों पर मार नहीं पड़े.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन में EPF पर राहत, मिडिल क्लास की EMI और लोन का क्या होगा?

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

कोरोना से जुड़ी ताजा अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें