scorecardresearch
 

कोरोनाः गुजरात में गणेश उत्सव और जन्माष्टमी पर नहीं लगेगा मेला

गुजरात सरकार ने कोरोना के चलते उत्सव में भीड़ लगाने पर रोक लगाई है. इस संदर्भ में जल्द ही एक नोटिफिकेशन भी जारी किया जाएगा.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (फाइल फोटो) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (फाइल फोटो)

  • गुजरात में अब तक कोरोना के 55 हजार से भी ज्यादा मामले
  • किसी भी त्योहार में भीड़ एकत्रित नहीं होने देने का किया फैसला

गुजरात में अब तक कोरोना के 55 हजार से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. ऐसे में गुजरात सरकार ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए किसी भी त्योहार में भीड़ एकत्रित नहीं होने देने का फैसला किया है. गुजरात के गृह मंत्रालय ने फैसला किया है कि राज्य में गणेश उत्सव और जन्माष्टमी जैसे मेले के साथ साथ ताजिया के जुलूस नहीं निकाले जाएंगे.

गृहमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने वडोदरा में कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना के चलते उत्सव में भीड़ लगाने पर रोक लगाई है. इस संदर्भ में जल्द ही एक नोटिफिकेशन भी जारी किया जाएगा.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

गृहमंत्री ने यह भी कहा कि कोरोना को रोकने का एक ही तरीका है और वो है सोशल डिस्टेंसिंग. लोग त्योहार और उत्सव में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करते हैं. इस स्थिति में कोरोना फैलने का खतरा और बढ़ जाता है. इसलिए सरकार ने फैसला लिया है कि त्योहारों में भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जाएगी.

बता दें कि गुजरात में गणेश मंडल, जन्माष्टमी मेला आयोजकों और मुस्लिम समुदाय के संगठनों ने ऐसे आयोजन पर रोक लगाने के लिए सरकार को ज्ञापन दिया था.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

गुजरात के गृहमंत्री ने कहा कि मिले ज्ञापन और कोरोना महामारी फैलने की वजह से सरकार ने भी फैसला लिया है कि आने वाले दिनों में गुजरात में इस तरह का कोई आयोजन न हो.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

फिलहाल, कोरोना संक्रमण को रोकने को लेकर प्रथम ज्योतिर्लिंग सोमनाथ मंदिर और द्वारिकाधीश मंदिर को 11 से 14 अगस्त तक बंद कर दिया गया है. इतिहास में पहली बार होगा कि द्वारिकाधीश मंदिर जन्माष्टमी के मौके पर बंद रहेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें