scorecardresearch
 

सुनवाई के दौरान दिल्ली HC के सामने उलझे 2 सीनियर वकील

दो वरिष्ठ वकीलों के आपस में भिड़ने से नाराज दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि यह उचित नहीं होगा कि कोर्ट में बेंच के सामने ही 2 वरिष्ठ वकील आपस में भिड़ जाएं. लिहाजा, कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ से इस मामले में आदेश जारी करने को कहा है कि आखिर ऐसी दशा में कौन दिल्ली पुलिस को रिप्रजेंट करेगा?

दिल्ली हाई कोर्ट दिल्ली हाई कोर्ट

  • एक केस में रिप्रजेंटेशन को लेकर आपस में उलझ गए वकील
  • कोर्ट में पुलिस का पक्ष रखने को लेकर हुई थी दोनों में बहस
  • हाईकोर्ट- उचित नहीं कि कोर्ट के सामने ही 2 वकील भिड़ जाएं

दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान दो वरिष्ठ वकील आपस में ही भिड़ गए. मामला था कि एक आरोपी युवक की पुलिस कस्टडी को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई में दिल्ली पुलिस को कोर्ट में कौन रिप्रजेंट करेगा!

एडिशनल सॉलिसिटर जनरल अमन लेखी और दिल्ली सरकार के स्टैंडिंग कॉउंसिल राहुल मेहरा के बीच इस विषय पर तीखी बहस हो गई.

दरअसल, 25 साल के एक युवक की पुलिस हिरासत के मामले पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई हो रही थी. अमन लेखी ने कोर्ट से कहा कि उनके पास मौखिक आदेश आया है कि वो इस मामले में दिल्ली पुलिस का पक्ष रखेंगे.

इसे भी पढ़ें --- लॉकडाउन: दिल्ली HC का फैसला, सभी अदालतों में 31 मई तक नहीं होगा कामकाज

अमन लेखी का इतना कहना था कि राहुल मेहरा इस पर भड़क गए और कहा कि दिल्ली पुलिस की तरफ से तो वो खुद हैं.

इस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि यह उचित नहीं होगा कि कोर्ट में बेंच के सामने ही 2 वरिष्ठ वकील आपस मे भिड़ जाएं. लिहाजा, कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ से इस मामले में आदेश जारी करने को कहा है कि आखिर ऐसी दशा में कौन दिल्ली पुलिस को रिप्रजेंट करेगा?

इसे भी पढ़ें --- सुप्रीम कोर्ट: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई, ऑडियो में दिक्कत पर CJI नाराज

दिल्ली सरकार का वकील या फिर केंद्र सरकार का! वैसे विशेषज्ञों के मुताबिक दिल्ली पुलिस और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन ही आती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें