scorecardresearch
 

दिल्ली एनसीआर में कई जगह पर बारिश, उमस भरी गरमी से मिली राहत

दिल्ली एनसीआर के तमाम इलाकों में मौसम ने करवट ले ली है. सुबह उमस भरी गरमी के बाद शाम होते-होते कई इलाकों में गरज के साथ हल्की बारिश का सिलसिला कई जगहों पर दर्ज किया गया.

बारिश से दिल्ली का मौसम हुआ सुहावना बारिश से दिल्ली का मौसम हुआ सुहावना

दिल्ली एनसीआर के तमाम इलाकों में मौसम ने करवट ले ली है. सुबह उमस भरी गरमी के बाद शाम होते-होते कई इलाकों में गरज के साथ हल्की बारिश का सिलसिला कई जगहों पर दर्ज किया गया. ताजा आंकड़ों के मुताबिक जींद, भिवानी, रोहतक, झज्जर, पानीपत, बागपत, सोनीपत, बड़ौत, रेवाड़ी, नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद और गाजियाबाद के आसमान पर बादलों की आवाजाही के बीच कई जगहों पर रुक-रुककर बारिश का सिलसिला बना हुआ है.

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली एनसीआर के ज्यादातर इलाकों में रात के तापमान 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास बने हुए है. इसका सीधा सा मतलब ये हुआ कि ये तापमान सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस ऊपर है. यानी रातें गरम है और हवा में नमी ज्यादा है. ऐसे में उत्तर भारत में एक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस ने दस्तक दी.

जानकारों के मुताबिक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस कमजोर है लेकिन उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में पहले से ही नमी की खासी मात्रा मौजूद है. ऐसे में कमजोर वेदर सिस्टम ने भी अपना कमाल दिखा दिया है. ड्ब्ल्यूडी की वजह से नम हवाओं ने तेजी से ऊपर जाना शुरू किया और नतीजा ये हुआ कि आसमान पर बादलों की आवाजाही शुरू हो गई. इन बादलों की रगड़ से गड़गड़ाहट पैदा हुई और कई इलाकों में रिमझिम फुहारें. मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी दिल्ली में कई जगहों पर शाम होते होते हल्की बारिश दर्ज की गई है. हल्की बारिश का ये दौर अगले 24 घंटों तक रुक-रुककर बना रहेगा.

हरियाणा और दिल्ली एनसीआर के ऊपर बना बादलों का जमावड़ा अब धीरे धीरे उत्तर दिशा की तरफ बढ़ेगा और ऐसा अनुमान है कि उत्तराखंड और इससे लगे हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में 5 तारीख को झमाझम बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक इस वेदर सिस्टम से उत्तराखंड की पहाड़ियों में मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना है. लेकिन इसके चलते भारी बारिश की संभावना काफी कम है. लिहाजा उत्तराखंड के पहाड़ों में अगले 24 घंटों में कई जगह पर बारिश होने की खासी संभावना है.

ये तो हुई उत्तर भारत की बात अब बात करते हैं मध्य भारत की. मौसम विभाग के मुताबिक मध्य भारत में कई जगहों पर रुक-रुककर बारिश होती रहेगी. इसी के साथ मुंबई और सूरत के बीच बने एक कम दबाव के क्षेत्र के चलते महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में खासतौर पर कोंकण में झमाझम बारिश का दौर जारी रहेगा. इसी के साथ सूरत-बलसाड़ के तमाम इलाकों में अच्छी बारिश देखी जाएगी। गुजरात और सौराष्ट्र में कई जगहों पर जोरदार बारिश का दौर अगले तीन-चार दिनों तक जारी रहेगा. उधर पूर्वोत्तर भारत में तेज बारिश का दौर अगले 48 घंटों बाद एक बार फिर से शुरू हो जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें