scorecardresearch
 

सौरभ भारद्वाज बोले- एक साल के अंदर खत्म कर देंगे दिल्ली के सारे कूड़े के पहाड़

दिल्ली नगर निगम (MCD) चुनाव की सरगर्मी तेज है. ऐसे में दिल्ली जनता किसे अपना आशीर्वाद देगी ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन उससे पहले प्रदेश के सियासी मिजाज को समझने के लिए आजतक ने 'एमसीडी पंचायत' कार्यक्रम रखा.

X
आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज
आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज

दिल्ली नगर निगम (MCD) चुनाव की सरगर्मी तेज है. ऐसे में दिल्ली की जनता किसे अपना आशीर्वाद देगी ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन उससे पहले प्रदेश के सियासी मिजाज को समझने के लिए आजतक 'एमसीडी पंचायत' कार्यक्रम रखा है, जिसमें आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने शिरकत की. इस दौरान उन्होंने वादा किया कि एमसीडी में आने के एक साल के अंदर दिल्ली से सारे कूड़े के पहाड़ को खत्म कर देंगे.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी के पास आज बताने के लिए कुछ नहीं है. एमसीडी में 15 साल तक राज करने के बाद भी बीजेपी के पास गिनाने के लिए कोई उपलब्धी नहीं है. इसीलिए निगेटिव प्रचार कर रहे ही है. बीजेपी के तमाम नेता सिर्फ और सिर्फ नकारात्मक प्रचार कर रहे हैं और अरविंद केजरीवाल को लेकर अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं. 

प्रदुषण के मुद्दे पर सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पहले से दिल्ली में प्रदुषण कम हुआ है. केंद्र सरकार ने खुद ही कोर्ट में हलफनामा देकर कहा है, दिल्ली में 25 फीसदी प्रदुषण कम हुआ. आम आदमी सरकार ने दिल्ली में प्रदूषण को कम करने के लिए बहुत काम किए हैं. वहीं, दिल्ली स्कूल के मुद्दे पर सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हमने गौरव भाटिया से कहा था कि आप आइए और हम आपको दिल्ली के स्कूल दिखाएंगे. वो आए और पहला ही स्कूल देखकर भाग गए और कह रहे हैं कि पुराने ही स्कूल को तोड़कर नया बना दिया. प्रगति मैदान बन रहा है, वो पुरानी जगह तोड़कर बनाए हैं. दिल्ली में जमीन देने का काम केंद्र सरकार के पास है, जब वो जमीन नहीं देंगे तो हम पुराने ही स्कूल को बेहतर बनाएंगे. नई बिल्डिंग बनाई गई है, स्वीमिग पुल बनाए गए हैं. 

दिल्ली मॉडल के सवाल पर सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पिछले तीन महीने से बीजेपी हर रोज सुबह से प्रेस कॉफ्रेंस करके केजरीवाल को कोसते हैं. इसके बाद भी दिल्ली में इनका बुरा हाल है, लोगों के जवाब नहीं दे रहे हैं. निगेटिव प्रचार कर रहे हैं. मनीष सिसोदिया का नाम सीबीआई की चार्जशीट में नहीं है. एक आदमी सरकारी गवाह बन गया. मंत्री के मसाज वाले वीडियों पर सौरभ भारद्वाज ने कहा सत्येंद्र जैन के वकील ने साफ तौर पर कहा कि कोर्ट के निर्देश पर उन्हें फिज्योथेरिपी दी जा रही है.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि इन्हीं (बीजेपी) के एक नेता ने हमसे कहा कि एमसीडी का चुनाव बीजेपी ने पूरी तरह से थाली में सजाकर आम आदमी पार्टी को दे दिया. बीजेपी के लोगों ने बड़ी चालाकी की थी कि गुजरात के साथ दिल्ली एमसीडी चुनाव कराने की, लेकिन केजरीवाल उनके जाल में नहीं फंसे और गुजरात में ही डेरा जमाए हैं.

एमसीडी का चुनाव दिल्ली की जनता लड़ रही है. बीजेपी तमाम कोशिश के बाद भी न तो गुजरात जीतेगी और न ही एमसीडी का चुनाव. उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह गुजरात में रिजल्ट आएगा. गुजरात बीजेपी की प्रयोगशाला है. गुजरात से पीएम मोदी आते हैं और अमित शाह. इसके बाद भी हम जीत रहे हैं. हमारी पार्टी का वोट शेयर बीजेपी के आस पास आ रहा है. 

आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ ने कहा कि दिल्ली में छठ पूजा से पहले मनोज तिवारी और प्रवेश वर्मा ने कहा कि यमुना में कौन सा केमिकल डाल दिया, जो साफ दिख रहा है. हम यह नहीं कहते हैं कि यमुना साफ हो गई है, लेकिन बहुत सुधार आया है. दिल्ली की 1700 कालोनी में सीवर लाइन बिछाकर हमने दिल्ली के साफ बना रहे हैं. 

दिल्ली में लगे कूड़े के पहाड़ को लेकर सौरभ भारद्वाज ने वादा किया कि एमसीडी में आने के एक साल में कूड़े को पहाड़ को खत्म कर देंगे. दिल्ली के सभी कूड़े को पहाड़ों की जगह को समतल कर देंगे.

हिमाचल के बजाय गुजरात पर क्यों किया फोकस? 

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि चुनाव को लेकर हम लोग बहुत ज्यादा तय नहीं करते हैं. पहले हम लोगों ने हिमाचल को टारगेट रखा, लेकिन गुजरात से हमें जो रिसपांस मिला. उसके चलते हमने हिमाचल छोड़कर गुजरात में फोकस किया. देश में लोगों में आम आदमी पार्टी की उत्सुकता है. इसी के देखते हुए हम अपनी रणनीति बनाते हैं. 

लोकसभा के चुनाव में क्यों फेल हो जाती है AAP?

सौरभ भारद्वाज ने बताया कि लोकसभा के चुनाव में दिल्ली में आम आदमी पार्टी क्यों बेहतर नहीं कर पाती. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी इसीलिए सफल रहती है कि क्षेत्रीय अस्मिता है. दिल्ली का कैरेक्टर अलग है. दिल्ली एक तरह6 से मिनी इंडिया है. यहां के लोग बहुत प्राक्टिकल सोचते हैं और जीतने वाली पार्टी को ही वोट देते हैं.

2019 के चुनाव में देखें तो यह दिख रहा था कि दो पार्टी की सरकार बन सकती है. एक कांग्रेस और दूसरी बीजेपी की, लेकिन अब स्थिति बदली है. कांग्रेस को वोट दिया तो वो छोड़कर भाग गए. इस तरह कांग्रेस के प्रति विश्वास खत्म हुआ. 2024 लोकसभा चुनाव होगा तो देखिएगा कि दिल्ली में बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच मुकाबला होगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें