scorecardresearch
 

काम में जुनून और देशवासियों के लिए सहानुभूति होनी चाहिए: CJI की लॉ स्टूडेंट्स को सलाह

CJI यूयू ललित ने कहा कि कानूनी पेशेवरों को ऐसा आचरण अपनाना चाहिए, जिससे निश्चित रूप से देशवासियों को फायदा हो. उन्होंने कहा- 'यदि आप इन दो तर्कों- जुनून और सहानुभूति पर चलते हैं तो अपने पेशे में बहुत अच्छा कर सकते हैं.' CJI ने यूथ लॉ ग्रेजुएट स्टूडेंट को न्यायिक सेवाओं को आगे बढ़ाने की सलाह दी.

X
सीजेआई यूयू ललित ने यूथ लॉ स्टूडेंट्स को संबोधित किया.
सीजेआई यूयू ललित ने यूथ लॉ स्टूडेंट्स को संबोधित किया.

सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस यूयू ललित ने कहा कि कानूनी पेशेवरों में ना सिर्फ अपने काम के लिए पूरा जुनून होना चाहिए, बल्कि देशवासियों के लिए भी सहानुभूति होना जरूरी है. उन्होंने युवा लॉ ग्रेजुएट से कानूनी सहायता के लिए समय देने का भी आग्रह किया है. शनिवार को सीजेआई ललित ओडिशा के नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे.

सीजेआई ने आगे कहा- 'एक कानूनी पेशेवर के रूप में किसी को भी अपने पेशे को लेकर पूरी तरह जुनूनी होना चाहिए, आप जो कुछ भी करते हैं, जो भी अवसर आपके काम की डिमांड करते हैं, उसके लिए आपको पूरी तरह से खुद को समर्पित कर देना चाहिए. जो कुछ भी आप कर सकते हैं उसे अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता में देना चाहिए. जुनून के अलावा साथियों और देशवासियों के लिए सहानुभूति भी होनी चाहिए.'

काम को लेकर जुनून और सहानुभूति होना जरूरी

CJI ने कहा कि कानूनी पेशेवरों को ऐसा आचरण अपनाना चाहिए, जिससे निश्चित रूप से देशवासियों को फायदा हो. उन्होंने कहा- 'यदि आप इन दो तर्कों- जुनून और सहानुभूति पर चलते हैं तो अपने पेशे में बहुत अच्छा कर सकते हैं.' CJI ने यूथ लॉ ग्रेजुएट स्टूडेंट को न्यायिक सेवाओं को आगे बढ़ाने की सलाह दी. 

न्यायिक सेवा सबसे आशाजनक...

उन्होंने कहा कि 'कानूनी पेशे के अलावा एक क्षेत्र पर विचार करें, जो न्यायिक सेवा से जुड़ा है. चाहे कॉर्पोरेट कानून हो या मुकदमेबाजी. न्यायिक सेवा सबसे आशाजनक, सबसे संतोषजनक सेवा होगी और आपने जो प्रशिक्षण लिया है, आप उसका उपयोग कर सकते हैं जिसे विवाद समाधान कहा जाता है. आप निश्चित रूप से देशवासियों की मदद कर रहे होंगे.

आपने जो सीखा, वो समाज को वापस कर देते हैं

CJI ने यूथ लॉ ग्रेजुएट से कानूनी सहायता के लिए अपना समय देने पर विचार करने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि आपने जो कुछ भी सीखा है उसे आप समाज को वापस कर देते हैं. कानूनी पेशे को एक महान पेशा कहा जाता है, क्योंकि नागरिकों के लिए न्याय करना, उनके आचरण का फैसला करना, एक निश्चित सीमा तक उनके भविष्य का फैसला करना, किसी व्यक्ति को कारावास में रखने की जरूरत है या नहीं, ये एक संप्रभु कार्य है.

कानूनी रूप से प्रशिक्षित पथप्रदर्शक होते हैं

उन्होंने कहा कि इस कार्य के निर्वहन में कानून स्नातक और वकील हिस्सा हैं, जिसमें उनका प्रशिक्षण शामिल है, जो इस विवाद समाधान तंत्र में नागरिकों का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि हर समाज, हर देश का इतिहास बताता है कि जो लोग कानूनी रूप से प्रशिक्षित हैं, वे किसी भी तरह के अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने के लिए पथप्रदर्शक और आकर्षण का केंद्र रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें