scorecardresearch
 

जल प्रदूषण कम करने के लिए शुरू हुआ 'गोमय गणेश अभियान', गणेशोत्वस के लिए तैयारी शुरू

राष्ट्रीय कामधेनू आयोग के अध्यक्ष डॉ. बल्लभ भाई कथीरिया ने बताया कि हर साल गणेश विसर्जन के मौके पर प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी मूर्तियां विसर्जित होने से जल प्रदूषण होता था इस बार पूजा के बाद गोमय गणेश का विसर्जन नदी या तालाब में कहीं भी हो सकता है बिना किसी प्रदूषण के.

गाय के गोबर से बन रही है भगवान गणेश की प्रतिमा गाय के गोबर से बन रही है भगवान गणेश की प्रतिमा

  • गोबर से बनी प्रतिमा को सीधे बाजार से खरीदा जा सकता है
  • राष्ट्रीय कामधेनू आयोग ने इसे काऊ चैलेंज मानकर अभियान छेड़ा

22 अगस्त को आने वाली गणेश चतुर्थी पर गणपति अगर गोबर के आएं तो आप क्या कहेंगे. ‘गोमय गणेश अभियान’ के तहत राष्ट्रीय कामधेनू आयोग आम लोगों से गोबर से बने हुए भगवान गणेश की स्थापना करने की अपील भी की है. खास बात ये है कि भगवान की गोबर से बनी हुई प्रतिमा को न केवल सीधे बाजार से खरीदा जा सकता है बल्कि ऑनलाइन भी मंगवाया जा सकेगा. प्रधानमंत्री मोदी ने जून के महीने में गणेशोत्सव पर ईको फ्रेंडली त्योहार मनाने की बात की तो राष्ट्रीय कामधेनू आयोग ने इसे काऊ चैलेंज मानकर अभियान छेड़ दिया.

राष्ट्रीय कामधेनू आयोग के अध्यक्ष डॉ. बल्लभ भाई कथीरिया ने बताया कि हर साल गणेश विसर्जन के मौके पर प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी मूर्तियां विसर्जित होने से जल प्रदूषण होता था इस बार पूजा के बाद गोमय गणेश का विसर्जन नदी या तालाब में कहीं भी हो सकता है बिना किसी प्रदूषण के.

दिल्ली-NCR में ताबड़तोड़ छापे, 1000 करोड़ का हवाला कारोबार, घेरे में चीनी नागरिक

दावा ये है कि गोबर की बने हुई भगवान गणेश की मूर्तियां हानिकारक रैडिएशन को भी सोख लेंगी. ऐसा माना जाता है कि देसी गाय के गोबर और मूत्र में कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं. देसी गाय का गोबर अब आपको खतरनाक रेडिएशन से भी बचाने का काम करेगा.

जन्माष्टमी पर जरूर उतारें श्रीकृष्ण की आरती, इसके बिना अधूरा है उपवास

डॉ. कथीरिया ने बताया कि कोरोना काल में गोमय गणेश अभियान से गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा सकेगा. आयोग ने कहा है कि घर पर गोमय गणेश की मूर्तियां बनाने की इच्छा रखने वाले लोगों को वीडियो कॉल के जरिए ना केवल आयोग मदद करेगा बल्कि मूर्ति बनाने का सांचा भी उपलब्ध कराएगा. आपको जानकर हैरानी होगी कि राष्ट्रीय कामधेनू आयोग इसे पूरे देश में बड़े स्तर पर चला रहा है जिसमें सैकड़ों से ज्यादा मूर्तिकार लगे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें