scorecardresearch
 

सिंघु बॉर्डर से पकड़ा गया संदिग्ध, 4 किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश का दावा!

किसानों ने सिंघु बॉर्डर से जिस संदिग्ध को पकड़ा है, उसने कथित तौर पर एक पुलिस अधिकारी का नाम लिया है. संदिग्ध का कहना है कि इस अधिकारी ने 26 जनवरी को कुछ गलत होने पर मंच पर बैठने वाले चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश रची है.

सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने संदिग्ध को पकड़ा (फोटो-ANI) सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने संदिग्ध को पकड़ा (फोटो-ANI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पकड़े गए संदिग्ध ने लिया एक पुलिस अधिकारी का नाम
  • कहा- कुछ गलत होने पर नेताओं को गोली मारने का था आदेश

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दे रहे किसान 26 मार्च को ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हैं. सरकार की ओर से कानून स्थगित करने का प्रस्ताव किसान ठुकरा चुके हैं. दिल्ली पुलिस की ओर से गणतंत्र दिवस के दिन सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देकर ट्रैक्टर रैली निकालने से किसानों को रोकने के लिए मान-मनौव्वल भी फेल रही है. अब किसानों ने बाधा डालने की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया है. किसानों ने सिंघु बॉर्डर से एक संदिग्ध को पकड़ा है.

किसानों ने सिंघु बॉर्डर से जिस संदिग्ध को पकड़ा है, उसने कथित तौर पर सोनीपत के राई थाने के एक पुलिस अधिकारी का नाम लिया है. संदिग्ध का कहना है कि इस अधिकारी ने 26 जनवरी को कुछ गलत होने पर मंच पर बैठने वाले चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश रची है. अधिकारी ने उन चार नेताओं की तस्वीर भी साझा कर रखी है. किसानों ने पकड़े गए संदिग्ध को मीडिया के सामने भी पेश किया.

देखें: आजतक LIVE TV

संदिग्ध ने खुलासा किया है कि प्रदर्शनकारी किसान हथियार लेकर जा रहे हैं या नहीं, यह पता लगाने के लिए दो टीमें लगाई गई हैं. वह खुद 19 जनवरी से सिंघु बॉर्डर पर है. उसने कहा कि 26 जनवरी के दिन उनकी योजना प्रदर्शनकारी किसानों में ही मिल जाने की थी. अगर प्रदर्शनकारी परेड के साथ निकलते तो हमें उनपर फायर करने के लिए कहा गया था. 

इसपर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आम आदमी पार्टी ने कहा है कि हमारा सबसे बुरा डर सच हो रहा है. वे किसान आंदोलन को किस तरह से खत्म करना चाहते हैं? किसान नेता जगजीत सिंह दलेवाल ने कहा कि पकड़े गए संदिग्ध ने प्रदर्शनकारियों पर प्रदर्शन स्थल के करीब एक लड़की से छेड़खानी का आरोप लगा बदनाम करने की कोशिश की. जब उसे पकड़ा गया, उसने यह स्वीकार किया कि वह यह देखने के लिए हंगामा कराने की कोशिश कर रहा था कि किसी प्रदर्शनकारी के पास कोई हथियार तो नहीं. बाद में उसने कई खुलासे किए.

दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया है कि इस संबंध में उसे कोई जानकारी नहीं है. पुलिस को कोई शिकायत नहीं मिली है. पुलिस की ओर से यह भी कहा गया कि यदि किसानों ने किसी संदिग्ध को पकड़ा तो उसे हमें सौंपें. हम पूछताछ करेंगे. दूसरी तरफ, मौके पर पहुंची हरियाणा पुलिस की एक टीम संदिग्ध को लेकर सिंघु बॉर्डर से निकल रही थी कि किसानों ने उसकी गाड़ी रोक ली. संदिग्ध को पुलिस के वाहन से उतार लिया गया. किसान नेताओं और पुलिस की टीम के बीच एक कमरे में संदिग्ध की मौजूदगी में बातचीत हुई. इसके बाद पुलिस उसे सोनीपत के कुंडली थाने ले गई.

सोनीपत का निवासी है आरोपी योगेश

सिंघु बॉर्डर से पकड़े गए युवक को क्राइम ब्रांच के दफ्तर ले जाया गया, जहां उससे पूछताछ की जा रही है. आरोपी योगेश सोनीपत के न्यू जीवन नगर का निवासी बताया जा रहा है. पुलिस के मुताबिक वह 9वीं फेल है. उसका पहले कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें