scorecardresearch
 

Delhi Violence: आज 9 की मौत, मरने वालों की संख्या हुई 22, 200 से अधिक घायल

Delhi Violence: दिल्ली हिंसा में मरने वालों का आंकाड़ा 22 हो गया और 200 लोग घायल हैं. पुलिस ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया है. इसके साथ ही दिल्ली से लगे बॉर्डर सील कर दिए गए हैं.

Delhi Violence: हिंसा को रोकने के लिए अर्धसैनिक बल तैनात (फाइल फोटो-PTI) Delhi Violence: हिंसा को रोकने के लिए अर्धसैनिक बल तैनात (फाइल फोटो-PTI)

  • दिल्ली हिंसा में 22 मौत के बाद एक्शन में सरकार
  • उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश
  • चार इलाकों में लगाना पड़ा कर्फ्यू

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल भी शामिल है. गुरु तेग बहादुर (जीटीबी) हॉस्पिटल के अधिकारियों के मुताबिक, आज नौ लाशें लाई गई हैं. करीब 200 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं. पुलिस ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया है. बुधवार सुबह गृह मंत्री अमित शाह ने घायल आईपीएस अफसर अमित शर्मा के परिजनों से बात की.

इस बीच नॉर्थ ईस्ट दिल्ली की हिंसा पर काबू पाने की कोशिशें तेज हो गई हैं. अब दिल्ली की आग बुझाने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल को मैदान में उतारा गया है. डोभाल ने देर रात नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया. डोभाल पुलिस अधिकारियों के साथ नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के सीलमपुर पहुंचे और हालात का जायजा लिया.

पढ़ें: राजस्थान: हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को शहीद का दर्जा देने की मांग, धरने पर बैठा परिवार

दिल्ली से लगे बॉर्डर सील

हिंसा में मरने वालों का आंकाड़ा 22 हो गया है और 200 लोग घायल हैं. उधर हिंसा के चलते दिल्ली से लगे बॉर्डर सील कर दिए गए हैं. चार इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है और नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षा स्थगित कर दी गई है.

पथराव, आगजनी और हिंसक झड़प

पुलिस को शूट एट साइट का कदम इसलिए उठाना पड़ा, क्योंकि नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में 23 फरवरी से सीएए को लेकर हिंसा का जो दौर शुरू हुआ वो 25 तारीख यानी मंगलवार को भी जारी रहा. मंगलवार को नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के कई इलाकों में पथराव हुआ, आगजनी हुई और हिंसक झड़प हुई. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा.

केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन

जामिया और दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्रों ने देर रात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन किया. छात्रों ने केजरीवाल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इन छात्रों की मांग थी कि सीएम केजरीवाल नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें