scorecardresearch
 

तेज होने वाला है वाहनों का धरपकड़ अभियान, रख लें पॉल्यूशन सर्टिफिकेट, वरना होगा 10 हजार का फाइन

ट्रांसपोर्ट विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर नवलेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि वाहन स्वामी के पास वैध पीयूसी नहीं होने पर 10 हजार का चालान तो कटेगा ही, अगर कोई 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ी सड़क पर चलती हुई मिली तो उसे भी काफी मुश्किल होगी. बहुत मुमकिन है, क्रीम से गाड़ी उठाकर सीधे स्क्रैप करने के लिए भेज दी जाए.

X
दिल्ली में पॉल्यूशन को लेकर अभियान चलाया जाएगा. दिल्ली में पॉल्यूशन को लेकर अभियान चलाया जाएगा.

दिल्ली में वाहनों का धरपकड़ अभियान तेज होने वाला है. ऐसे में चालकों को कंपलीट पेपर रखकर चलना होगा. आगामी 1 अक्टूबर से दिल्ली में प्रदूषण को रोकने के लिए ग्रैप लागू होने वाला है. आपकी परेशानी ना बढ़े इसलिए चेक कर लीजिए कहीं आपकी गाड़ी प्रदूषण तो नहीं फैला रही है. अगर गाड़ी अगर प्रदूषण फैला रही है और वैलिड पीयूसी नहीं है तो चेक करके नया सर्टिफिकेट बनवा लें. वरना 10 हजार रुपए बतौर चालान चुकाना पड़ेगा. बिना पीयूसी चालान की कार्रवाई वैसे तो पूरे साल होती है, लेकिन दिल्ली में 1 अक्टूबर से लागू होने वाले ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान के तहत के तहत वाहनों की धरपकड़ और चेकिंग अभियान तेज होगा.

10 साल से पुराना तो स्क्रैप का खतरा्र

ट्रांसपोर्ट विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर नवलेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि वाहन स्वामी के पास वैध पीयूसी नहीं होने पर 10 हजार का चालान तो कटेगा ही, अगर कोई 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ी सड़क पर चलती हुई मिली तो उसे भी काफी मुश्किल होगी. बहुत मुमकिन है, क्रीम से गाड़ी उठाकर सीधे स्क्रैप करने के लिए भेज दी जाए.

अब कारों पर ज्यादा जोर

जॉइंट कमिश्नर का कहना है कि इस साल 1 जनवरी से लेकर 20 सितंबर तक एनफोर्समेंट की टीमें 12523 वाहनों का चालान काट चुकी हैं. 5596 पुरानी गाड़ियों को जब्त कर स्क्रैप के लिए भी भेजा गया है. बिना ढके कंस्ट्रक्शन मैटेरियल ले जाने वाली गाड़ियों के खिलाफ भी एक्शन लिया जाएगा. फोर व्हीलर्स पर अब खास फोकस होगा. हालांकि पहले टू व्हीलर्स ही जब्त किए गए हैं. 

इस बार का ग्रैप अलग क्यों है?

ग्रैप यानि ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान को जल्द ही कमीशन फॉर एयर क्वालिटी मेनेजमेंट ने रिवाइज्ड किया है और इस बार 1 अक्टूबर से लागू होने वाला ग्रैप बदला है जो कि प्रदूषण बढ़ने के बाद नहीं बल्कि 3 दिन के पूर्वानुमान के आधार पर ग्रैप के अलग अलग स्टेज को लागू किया जाएगा.

स्टेज 1- एक्यूआई 201-300 (खराब) 
स्टेज 2- एक्यूआई 301-400 (बेहद खराब) 
स्टेज 3- एक्यूआई 401-450 (गंभीर)  
स्टेज 2- एक्यूआई 301-400 (इमरजेंसी)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें