scorecardresearch
 

तेज हवा के बाद भी दिल्ली-NCR की हवा 'खराब', AQI 200 के पार

दिल्ली के लोधी रोड एरिया में मंगलवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 215 रिकॉर्ड किया गया. इससे पहले सोमवार को राजधानी के ज्यादातर इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 170 से 250 के बीच दर्ज किया गया था.

दिल्ली में वायु प्रदूषण 'खराब' स्तर पर बना हुआ है (फाइल फोटो-IANS) दिल्ली में वायु प्रदूषण 'खराब' स्तर पर बना हुआ है (फाइल फोटो-IANS)

  • लोधी रोड में एक्यूआई 215 दर्ज किया गया
  • राजधानी में एक्यूआई 170-250 के बीच दर्ज

पिछले 2 दिनों से कुछ तेज चल रही हवा की वजह से दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता में आंशिक सुधार हुआ है. हालांकि अभी भी ये खराब कैटेगरी में बना हुआ है. दिल्ली के लोधी रोड इलाके में मंगलवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 215 रिकॉर्ड किया गया है. इससे पहले सोमवार को राजधानी के ज्यादातर इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 170 से 250 के बीच दर्ज किया गया था.

दिल्ली में लगातार बढ़ते प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सरकार को फटकार लगाई थी. सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि बिगड़ती वायु गुणवत्ता, बढ़ते कचरे और नहीं पीने योग्य पानी जैसे कारणों से दिल्ली नरक से भी बदतर हो गई है. इसके साथ ही अदालत ने पूछा कि लोगों को मुआवजा देने के लिए राज्य प्रशासन को जिम्मेदार क्यों नहीं ठहराया जाना चाहिए.

जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने मुख्य सचिव विजय देव से कहा, क्या आप दिल्ली में जल और वायु प्रदूषण के बारे में गंभीर हैं..आपके पास कूड़े को संभालने की सिर्फ 55 फीसदी क्षमता है. बाकी 45 फीसदी के बारे में क्या?

मुख्य सचिव ने यह साफ करने की कोशिश की कि दिल्ली में दो सत्ता  केंद्र होने के कारण शासन एक मुद्दा है. इस पर जस्टिस मिश्रा ने कहा, दूसरों को दोष मत दीजिए और मत सोचिए कि आप बच सकते हैं. आप लोगों को मुआवजा देने के लिए उत्तरदायी हैं. यमुना नदी को साफ करने के लिए कितना पैसा आ रहा है और यह कहां जा रहा है...दिल्ली में पानी की स्थिति क्या है. हम शुद्ध पेयजल के लिए लोगों के अधिकार का खुद से संज्ञान ले रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें