scorecardresearch
 

दिल्ली शराब नीति मामला: कोर्ट ने वियज नायर और अभिषेक बोइनपल्ली की 5 दिनों की रिमांड बढ़ाई

आम आदमी पार्टी के कम्युनिकेशन इंचार्ज विजय नायर और हैदराबाद के बिजनेसमैन अभिषेक बोइनपल्ली को ED ने 5 दिन की रिमांड खत्म होने के बाद शनिवार को कोर्ट में पेश किया था. मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने दोनों की रिमांड बढ़ाने के आदेश दिए.

X
दिल्ली की कोर्ट ने रिमांड बढ़ाई
दिल्ली की कोर्ट ने रिमांड बढ़ाई

दिल्ली की कोर्ट ने शराब नीति मामले में गिरफ्तार विजय नायर और अभिषेक बोइनपल्ली की ईडी रिमांड 5 दिनों के लिए बढ़ा दी है. ईडी ने कोर्ट से 9 दिन की रिमांड बढ़ाने की मांग की थी. दरअसल, आम आदमी पार्टी के कम्युनिकेशन इंचार्ज विजय नायर और हैदराबाद के बिजनेसमैन अभिषेक बोइनपल्ली को ED ने 5 दिन की रिमांड खत्म होने के बाद शनिवार को कोर्ट में पेश किया था. मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने दोनों की रिमांड बढ़ाने के आदेश दिए. 

बता दें कि दिल्ली की शराब नीति में कथित घोटाले के मामले में सीबीआई ने अगस्त में FIR दर्ज की थी. इस मामले में मनीष सिसोदिया, तीन पूर्व सरकारी अफसर, 9 कारोबारी और दो कंपनियों को आरोपी बनाया गया है. सीबीआई ने आरोपियों पर आपराधिक साजिश रचने और भ्रष्टाचार से जुड़ी धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. इनमें तीन पूर्व सरकारी अफसर एजी कृष्णा (पूर्व एक्साइज कमिश्नर), आनंद तिवारी (पूर्व डिप्टी एक्साइज कमिश्नर) और पंकज भटनागर (पूर्व असिस्टेंट एक्साइज कमिश्नर) शामिल हैं. 

इसके अलावा अमित अरोड़ा (बडी रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर), दिनेश अरोड़ा और अर्जुन पांडे को भी आरोपी बनाया गया है. इन तीनों को सिसोदिया का करीबी माना जाता है. आरोप है कि तीनों ने आरोपी सरकारी अफसरों की मदद से शराब कारोबारियों से पैसा इकट्ठा किया और उसे दूसरी जगह डायवर्ट किया.

सितंबर दर्जनों ठिकानों पर हुई थी रेड 

बता दें कि 16 सितंबर को ईडी ने 40 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इसमें केवल हैदराबाद में 25 ठिकानों पर रेड की थी. इसके अलावा शराब नीति घोटाले में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन से भी ईडी पूछताछ कर चुकी है. वहीं इससे पहले बीते 6 सितंबर को ईडी ने दिल्ली समेत कई राज्यों में 35 ठिकानों पर छापेमारी की थी. ईडी ने दिल्ली के अलावा गुरुग्राम, लखनऊ, हैदराबाद, मुंबई, बेंगलुरु और पंजाब के शहरों में भी रेड की थी. जांच एजेंसी के निशाने पर शराब कारोबारी थे. ईडी की छापेमारी में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का घर शामिल नहीं था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें