scorecardresearch
 

पतंग के मांझे से फंसा कौआ, फायर ब्रिगेड ने क्रेन मंगवाकर किया रेस्क्यू

घटना बाहरी दिल्ली के रनहोला इलाके की है. रनहोला इलाके में एक बेजुबान पक्षी कौआ पतंग के मांझों में फंसकर पेड़ के ऊपर उल्टा लटका हुआ था.

40 फीट ऊंचाई पर पेड़ से उल्टा लटका था कौआ 40 फीट ऊंचाई पर पेड़ से उल्टा लटका था कौआ

  • बाहरी दिल्ली के रनहोला इलाके की घटना
  • फायर ब्रिगेड को लेनी पड़ी क्रेन की मदद

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस के उल्लास में पतंगबाजी का रंग भी शामिल रहता है. गुरुवार की शाम लोगों के उत्साह के इस रंग से एक बेजुबान पक्षी की जान सांसत में पड़ गई. फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने इस पक्षी का रेस्क्यू कर जान बचाई. पक्षी के रेस्क्यू के लिए दिल्ली के फायर ब्रिगेड को क्रेन की भी मदद लेनी पड़ी.

यह घटना बाहरी दिल्ली के रनहोला इलाके की है. बताया जाता है कि गुरुवार देर शाम रनहोला इलाके में एक बेजुबान पक्षी कौआ पतंग के मांझों में फंसकर पेड़ के ऊपर उल्टा लटका हुआ था. वह तड़प रहा था, अपने पंखों को फैलाकर खुद को मांझे के बंधन से मुक्त कराने की कोशिश भी कर रहा था. लेकिन उसकी हर कोशिश नाकाम रही. इस पर क्षेत्रीय नागरिकों की नजर पड़ी तो लोगों ने इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को दी.

देश में 74वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न, पीएम मोदी लाल किले पर फहराएंगे तिरंगा

सूचना पाकर मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने इस बेजुबान पक्षी को पेड़ से उतारने की कोशिश की, लेकिन ऊंचाई अधिक होने की वजह से फायर दस्ते के कर्मचारी भी नाकाम रहे. फायर कर्मचारियों ने इसके बाद फायर ब्रिगेड की स्पेशल क्रेन मंगवाई और उसकी मदद से रेस्क्यू शुरू किया. घंटों मशक्कत के बाद फायर कर्मचारी लगभग 40 फीट की ऊंचाई पर मांझे में फंसकर तड़प रहे कौवे के पास पहुंचे.

लाल किले की प्राचीर से इस बार पीएम मोदी के किन-किन मुद्दों पर बोलने की संभावना?

फायर कर्मचारियों ने पेड़ में उलझे मांझे को काटकर कौवे को नीचे लाया और उसके पैरों से भी मांझा काटा. गौरतलब है कि मांझे के कारण हर साल आसमान में उड़ने वाले बेजुबानों की जान आफत में पड़ती है. कई बेजुबानों की मांझे में फंसकर मौत हो जाती है, तो कई दफे राहगीर भी जख्मी होते रहे हैं. हादसों को देखते हुए चाइनीज मांझे पर प्रतिबंध की मांग उठती रही है, लेकिन इस साल व्यावसायियों ने खुद ही चाइनीज मांझे न बेचने का दावा किया था. ऐसे में यह हादसा कई सवाल खड़े करता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें