scorecardresearch
 

दिल्ली: नए वैरिएंट, वैक्सीन का लंबा गैप... कोरोना की नई लहर के बीच इन खतरों को लेकर चेता रहे एक्सपर्ट

इससे पहले 4 फरवरी को दिल्ली में कोरोना के 2,272 केस मिले थे. जबकि 20 लोगों की मौत हुई थी. 25 जून के बाद से बुधवार को कोरोना से सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है. इससे पहले 25 जून को 6 लोगों की मौत हुई थी. मंगलवार को भी दिल्ली में 1,506 केस सामने आए थे. जबकि तीन लोगों की मौत हुई है. पॉजिटिविटी रेट भी 10.69% थी.

X
फाइल फोटो फाइल फोटो

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोन के केस तेजी से बढ़ने लगे हैं. यहां बुधवार को 2000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. इतना ही नहीं महामारी से 5 लोगों की मौत भी हुई है. राजधानी में 6 महीने बाद इतने केस दर्ज किए गए हैं. दिल्ली में कोरोना केस बढ़ने के पीछे मुख्य वजह ओमाइक्रोन के BA.4 और BA.5 सब वैरिएंट हैं. 

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली में कोरोना के 2,073 केस मिले. पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 11.64% पहुंच गया. इससे पहले 24 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 11.79% था. दिल्ली में लगातार तीसरे दिन पॉजिटिविटी रेट 10% के ऊपर रहा. 

4 फरवरी को मिले थे इतने केस

इससे पहले 4 फरवरी को दिल्ली में कोरोना के 2,272 केस मिले थे. जबकि 20 लोगों की मौत हुई थी. 25 जून के बाद से बुधवार को कोरोना से सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है. इससे पहले 25 जून को 6 लोगों की मौत हुई थी. मंगलवार को भी दिल्ली में 1,506 केस सामने आए थे. जबकि तीन लोगों की मौत हुई है. पॉजिटिविटी रेट भी 10.69% थी.

दिल्ली में क्यों बढ़ रहे केस?

दिल्ली ने ओमाइक्रोन के BA.4 और BA.5 सब वैरिएंट के केस मिले हैं. यह काफी तेजी से संक्रमण फैलाते हैं. BA.5 ओमिक्रॉन के किसी भी वैरिएंट से सबसे ज्यादा संक्रमण फैलाने वाला है. हाल ही में एक रिसर्च में सामने आया था कि BA.5 दूसरे वेरिएंट्स की तुलना में आसानी से फैलता है. इतना ही नहीं यह हर जगह फैला हुआ है, किसी को भी संक्रमित कर सकता है, चाहें आप वैक्सीन लगवा चुके हों, बूस्टर शॉट ले चुके हों या कोरोना संक्रमित हो चुके हों.  इतना ही नहीं एक्सपर्ट का कहना है कि काफी लोग ऐसे हैं, जो वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने नहीं आ रहे हैं. जबकि उन्हें कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लिए 8-9 महीने हो गए. दिल्ली में केसों का तेजी से बढ़ना, कंटेनमेंट जोन का बढ़ना किसी खतरे की घंटी से कम नहीं हैं. 
 
एक हफ्ते से तेजी से बढ़ रहा पॉजिटिविटी रेट 

अब तक दिल्ली में कोरोना के 19,60,172 केस सामने आ चुके हैं. जबकि 26,321 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में पिछले 1 हफ्ते में पॉजिटिविटी रेट काफी तेजी से बढ़ा है. सोमवार को दिल्ली में 11.41% पॉजिटिविटी रेट के साथ 822 केस मिले थे. जबकि 2 लोगों की मौत हुई थी. इससे पहले रविवार को कोरोना के 1,263 केस मिले थे, जबकि पॉजिटिविटी रेट 9.35 % था. 

शनिवार को दिल्ली में कोरोना के केस 1333 आए थे. तब पॉजिटिविटी रेट 8.39% था, जबकि 2 लोगों की मौत हुई थी. शुक्रवार को कोरोना के 1,245 केस आए थे. जबकि पॉजिटिविटी रेट 7.36 था. गुरुवार को 1128 केस दर्ज किए गए थे. पॉजिटिविटी रेट 6.56% था. 

कब कितने आए केस?

तारीख कितने केस आए पॉजिटिविटी रेट
28 जुलाई 1128 6.56%
29 जुलाई 1,245 7.36%
30 जुलाई 1333 8.39% 
31 जुलाई   1,263 9.35% 
1 अगस्त 822 11.41%
2 अगस्त 1,506   10.69%
3 अगस्त  2,073    11.64%

               
 एक्टिव केस बढ़कर 5600 पहुंचे

दिल्ली में एक्टिव केस बढ़कर 5,637 हो गए हैं. जबकि एक दिन पहले यह 5,006  थे. हालांकि, अभी दिल्ली के अस्पतालों में 9,405 में से सिर्फ 376 बेड भरे हैं. वहीं, कोविड केयर सेंटर और कोविड हेल्थ सेंटर पर भी बेड खाली हैं. दिल्ली में अभी 183 कंटेंमेंट जोन हैं. दिल्ली में तीसरी लहर के दौरान 13 जनवरी को सबसे ज्यादा 28,867 केस मिले थे. 14 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट भी 30.6% पहुंच गया था, जो तीसरी लहर में सबसे ज्यादा था.
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें