scorecardresearch
 

CBI ने कोर्ट से कहा- सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं चिदंबरम, नहीं मिले जमानत

आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने दिल्ली हाई कोर्ट में जवाब दाखिल किया है. इसमें एजेंसी ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया है.

चिदंबरम की जमानत के खिलाफ CBI (फाइल फोटो) चिदंबरम की जमानत के खिलाफ CBI (फाइल फोटो)

  • सीबीआई ने चिदंबरम की जमानत का किया विरोध
  • 'चिदंबरम बाहर आकर केस को प्रभावित कर सकते हैं'

आईएनएक्स मीडिया केस पर सीबीआई ने दिल्ली हाई कोर्ट में जवाब दाखिल किया है. इसमें एजेंसी ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया है.

सीबीआई ने कहा है कि इस मामले की जांच अभी चल रही है, ऐसे में इन्हें जमानत नहीं दी जानी चाहिए. एजेंसी का कहना है कि चिदंबरम बेहद प्रभावशाली व्यक्ति हैं, अगर उन्हें जमानत दी जाती है तो वो बाहर आकर गवाहों को प्रभावित और अन्य संभावित सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं.

हलफनामे के जरिए दिए जवाब में सीबीआई ने कोर्ट को ये भी बताया है कि कई देशों को पत्र लिखकर चिदंबरम, इनके परिजनों और संबन्धित कम्पनियों के विदेशों में स्थित बैंक खातों और शेल कंपनियों के बारे में जानकारी मांगी है.

ऐसे में अगर पी. चिदंबरम को जमानत मिलती है तो सीधे तौर पर जांच प्रभावित होगी. यानी जमानत पर रिहा होकर इस गंभीर मामले में पी. चिदंबरम गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं.

जांच एजेंसी ने कहा कि लिहाजा जांच के इस अग्रिम चरण में आरोपी की जमानत मंजूर करने का ये फिट केस कतई नहीं है.

दअरसल, दिल्ली हाई कोर्ट ने पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर सीबीआई को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था. 23 सितंबर को दिल्ली हाई कोर्ट पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें