scorecardresearch
 

केजरीवाल पर बरसे शाह, कहा- झांसा एक बार दिया जा सकता है

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जनता को झांसा सिर्फ एक बार दिया जा सकता है, बार-बार नहीं. केजरीवाज ने बार-बार जनता को झांसा दिया. उसके बाद नगर निगम के चुनाव हुए तो AAP का सूपड़ा साफ हो गया और बीजेपी का झंडा लहराया.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (ANI) बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (ANI)

  • शाह ने कहा, घर-घर जाएं बीजेपी कार्यकर्ता
  • शाह का मंत्र- मोहल्ला मीटिंग कर लड़ें चुनाव

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान अभी भले नहीं हुआ है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का चुनाव अभियान शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को दिल्ली में बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने के टिप्स दिए. अमित शाह ने बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) पर निशाना साधा. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि जनता को झांसा सिर्फ एक बार दिया जा सकता है, बार-बार नहीं. केजरीवाज ने बार-बार जनता को झांसा दिया. उसके बाद नगर निगम के चुनाव हुए तो AAP का सूपड़ा साफ हो गया और बीजेपी का झंडा लहराया.

मोहल्ला मीटिंग कर लड़ेंगे चुनाव

अमित शाह ने कहा, बाकी पार्टियों के लिए चुनाव सत्ता प्राप्त करने का साधन हो सकता है लेकिन बीजेपी लोकतंत्र में विश्वास करती है. हम मानते हैं कि चुनाव लोकतंत्र का उत्सव है. बीजेपी कार्यकर्ताओं के पास दिल्ली के घर-घर में जाकर हमारी नीतियां जनता तक पहुंचाने का मौका है. बीजेपी को चुनाव सभाओं से नहीं लड़ना है, बल्कि घर-घर जाकर लड़ना है. मोहल्ला मीटिंग करके लड़ना है. इस मोहल्ला मीटिंग की शुरुआत मैं ही करने जा रहा हूं.

काम में रुकावट बने केजरीवाल

अमित शाह ने कहा, केजरीवाल जी अखबारों में अपनी फोटो वाला विज्ञापन देकर बधाई दे रहे हैं. अरे आपने कौन सा काम पूरा कर लिया, ये तो बताइए. 5 साल सरकार चलाने के बाद आप अब कामों को शुरू कर रहे हैं. हमने कहा था कि दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत करेंगे. नरेंद्र मोदी जी ने अनधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत करने की शुरुआत कर दी है. दिल्ली में 15 लाख सीसीटीवी कैमरे लगने थे, लेकिन नहीं लगे. अनुबंधित शिक्षकों-कर्मचारियों को पक्का करना था, वो नहीं किया. और हम जो देना चाहते थे उसमें भी केजरीवाल रुकावट बने हैं. दिल्ली की जनता अब इन्हें जान चुकी है.

अमित शाह का खास टिप्स

अमित शाह हर चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को 'बूथ जीतो-चुनाव जीतो' का खास टिप्स देते हैं. अमित शाह ने इस सम्मेलन के जरिए विधानसभा चुनाव में 51 प्रतिशत वोट शेयर पाने का कार्यकर्ताओं को लक्ष्य दिया, ताकि आम आदमी पार्टी-कांग्रेस में गठबंधन होने की स्थिति में भी बीजेपी पर असर न पड़े. शाह हर चुनाव से पहले बूथस्तरीय कार्यकर्ताओं के सम्मेलनों में इस बात पर जोर देते रहे हैं कि जीत की सीढ़ी बूथ से शुरू होती है. अगर हर बूथ प्रभारी अपने बूथ पर पार्टी को आगे रखने में सफल रहे तो जीत सुनिश्चित है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें