scorecardresearch
 

Delhi Pollution: मॉनसून की विदाई से पहले बढ़ा प्रदूषण, दिल्ली की हवा 'खराब', AQI पहुंचा 240

Polluion in Delhi: दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) खराब श्रेणी में है. CPCB के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार में आज (बुधवार), 21 सितंबर को सुबह 7 बजे एयर क्वालिटी यानी AQI 240 दर्ज किया गया. हालांकि, बीते दिन की तुलना में AQI में काफी सुधार है.

X
Delhi AQI in Poor Category
Delhi AQI in Poor Category

Delhi Air Pollution AQI Today: मॉनसून की विदाई से पहले ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर के शहरों की हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है. दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) खराब श्रेणी में है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार में आज (बुधवार), 21 सितंबर को सुबह 7 बजे एयर क्वालिटी यानी AQI 240 दर्ज किया गया. हालांकि, बीते दिन की तुलना में AQI में काफी सुधार देखा गया है. दरअसल, मंगलवार यानी 20 सितंबर को आनंद विहार में AQI 418 रिकॉर्ड किया गया था, जो गंभीर श्रेणी में आता है.

बताया जा रहा है कि यह धुंध मौसम की वजह से नहीं बल्कि प्रदूषण बढ़ने से है. आने वाले कुछ दिनों में राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण का स्तर और भी बढ़ सकता है. दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को 'गंभीर' श्रेणी में दर्ज की गई थी. जबकि बीते वीकेंड पर बारिश के बीच दिल्ली की वायु गुणवत्ता (AQI) अच्छी श्रेणी में दर्ज की गई थी. वहीं, बीते 2 दिन से दिल्ली-एनसीआर में सुबह के समय धुंध देखने को मिल रही है.

अपने इलाके का AQI जानने के लिए यहां क्लिक करें...

केंद्रीय  प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में मंगलवार को शाम साढ़े छह बजे वायु गुणवत्ता 'मध्यम' (116) श्रेणी में रही जबकि आज (बुधवार) को फिर 'खराब' (240) श्रेणी में पहुंच गई है.

बात दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई 'अच्छा', 51 से 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 से 200 के बीच 'मध्यम', 201 से 300 के बीच 'खराब', 301 से 400 के बीच 'बहुत खराब' और 401 से 500 के बीच एक्यूआई 'गंभीर' श्रेणी में माना जाता है.

Delhi Air Pollution

 

आम तौर पर अक्टूबर के महीने में जब पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाएं शुरू होती हैं तो दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है, लेकिन इस साल पहले ही प्रदूषण ने दस्तक दे दी है. सितंबर में मॉनसून की विदाई के नजदीक आते ही हवा की गुणवत्ता खराब हो गई है. मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक, सितंबर के तीसरे सप्ताह के बाद दिल्ली से मॉनसून की वापसी हो सकती है.

केंद्र की वायु मानक संस्था SAFAR इंडिया के मुताबिक, 2.5 माइक्रोमीटर से कम आकार के कणों की पीएम 10 में 59 फीसदी हिस्सेदारी रही है. मंगलवार को पीएम 10 का स्तर 116 व पीएम 2.5 का स्तर 53 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर रहा. सफर का पूर्वानुमान है कि अगले तीन दिनों तक 10 से 12 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चलेगी. 

Delhi AIQ (DIU Data)

IMD के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान में अगले 3-4 दिन बादल छाए रहने के बीच हल्की बारिश और बूंदाबांदी हो सकती है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 21 सितंबर को राष्ट्रीय राजधानी में बादल छाए रहने के साथ ही हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है. बता दें कि दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्सों में मंगलवार को हल्की से मध्यम बारिश हुई थी. जिसके बाद शाम के समय हवा की गुणवत्ता यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) में सुधार देखा गया.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें