scorecardresearch
 

BJP नेता के खिलाफ सोमनाथ भारती ने खोला मोर्चा, LG को पत्र लिखकर की CBI जांच की मांग

दिल्ली की मालवीय नगर विधानसभा से विधायक सोमनाथ भारती ने आरोप लगाया कि बीजेपी अपने नेता शैलेंदर सिंह मोंटी के अतिक्रमण के खिलाफ 2015 के डीडीए के डिमोलिशन आर्डर का पालन नहीं होने दे रही है. बीजेपी अपने आप को हिन्दू हितैषी कहती है, लेकिन बीजेपी का यह नक़ाब उतर चुका है.

X
आप विधायक सोमनाथ भारती
आप विधायक सोमनाथ भारती

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती ने उपराज्यपाल विनय सक्सेना को पत्र लिखकर बीजेपी नेता पर गंभीर आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की है. दरअसल, दिल्ली की मालवीय नगर विधानसभा से विधायक सोमनाथ भारती ने बयान जारी कर आरोप लगाया है कि बीजेपी अपने नेता शैलेंदर सिंह मोंटी के अतिक्रमण के खिलाफ 2015 के डीडीए के डिमोलिशन आर्डर का पालन नहीं होने दे रही है. बीजेपी अपने आप को हिन्दू हितैषी कहती है, लेकिन बीजेपी का यह नक़ाब उतर चुका है. उन्होंने उप राज्यपाल से मांग है कि शैलेंदर सिंह मोंटी ने 2007 के बाद जो जमीनें ली हैं, उनकी ईडी-सीबीआई से जांच कराएं. 

सोमनाथ भारती ने अपने बयान में आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी गलत मुद्दा उठा रही है. मुद्दा हौज खास गांव के निवासियों के श्मशान घाट का है. लंबे समय से मैं प्रयत्न कर रहा हूं कि गांव के लिए शमशान घाट बने. उसकी जमीन बीजेपी नेता शैलेंदर सिंह मोंटी ने गबन करके होटल बना लिया. डीडीए ने 2015 में उस होटल का डेमोलिशन आर्डर पास किया. उसके बाद कई बार एसडीएम ऑफिस के लोगों ने डिमार्केशन करने के लिए प्रयत्न किया. लेकिन सबको गुंडागर्दी करके भगा दिया.

एसडीएम को धमकाने का आरोप

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा नेता शैलेंदर सिंह मोंटी और उसके गुर्गों ने एसडीएम निधि सरोहे को डिमार्केशन के दौरान धमकाया. जिसका वीडियो मैंने बाक़ायदा प्रेस कांफ्रेंस करके सितम्बर 2021 को सबके सामने रखा था. बीजेपी अपने आप को हिन्दू हितैषी कहती है लेकिन अब बीजेपी का यह नक़ाब उतर चुका है. हिन्दू हितैषी पार्टी हौज़ खास गांव के निवासियों को शमशान घाट मिले, इसका विरोध कर रही है. यह अपने आप में अपमानजनक है. बीजेपी आज उस व्यक्ति के साथ खड़ी है जो चरित्रहीन, भ्रष्ट, भू-माफ़िया है.

2012 में भी हुई थी शिकायत- सोमनाथ भारती

आगे विधायक ने आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे राजनीती में आने से पहले हौज़ खास गांव के निवासियों ने पंचायत घर और स्कूल की ज़मीनों पर कब्ज़ा करने की शिकायत उपराज्यपाल को 20 सितंबर 2012 को सौंपी थी. इस व्यक्ति के खिलाफ पंचायत घर का सरिया चुराने का मुकदमा चल रहा है. इसके खिलाफ गांव के प्रबुद्ध लोगों ने गवाही भी दी. स्थानीय निवासी दयानद गोचवल ने इस केस में विटनेस का रोल अदा किया है और सच्चाई बयान की है. लियाक़त अली ने भी इस चोरी के संबंध में कोर्ट के सामने बयान दिया. इस केस में करीब करीब शैलेंदर सिंह मोंटी का आरोप सुनिश्चित हैं. डीडीए ने 30 दिसंबर 2014 को आरटीआई का जवाब दिया कि खसरा नंबर 277 डीडीए की प्रॉपर्टी है, जो 1967 में अधिकृत की गई थी. उसपर कब्ज़ा रेनू सिंह मोंटी का है जो कि शैलेंदर सिंह मोंटी की पत्नी है.

पार्षद बनने के बाद जमीनों पर कब्जा किया- विधायक

आम आदमी पार्टी विधायक सोमनाथ भारती ने आरोप लगाते हुए कहा "शैलेंदर सिंह मोंटी के कारनामे पूरा क्षेत्र जानता है. 2007 में पहली बार पार्षद बनने के बाद बहुत सारी ज़मीनों पर कब्जा किया. हर जगह उसकी प्रॉपर्टी मिल जाएगी. ऐसे भ्रष्ट व्यक्ति के साथ आज बीजेपी खड़ी है. इसकी हम कड़ी निंदा करते हैं. उपराज्यपाल से मांग करते हैं कि जितनी संपत्ति इसने 2007 के बाद ली है, उस सबकी ईडी-सीबीआई से जांच हो. इसने अकूत संपत्ति कहां से अर्जित की, इसका पता लगाया जाए. इसके हौज खास गांव के अंदर मकान नंबर 26 , 27, टी-40, 47 हैं. ग्रीन पार्क स्टेडियम एक्सटेंशन ई-6, डी-15 में भी मकान है. इसके अलावा गोवा में पैलेस है. उसी प्रकार से इसने उत्तर प्रदेश में सहारनपुर और कई जगहों पर ज़मीन खरीदी है. इन सबकी जांच होनी चाहिए."

'भारत केजरीवाल को पीएम के रूप में देखना चाहता है'

आम आदमी पार्टी विधायक सोमनाथ भारती ने अपने बयान में कहा कि बीजेपी ने आज जो विशाल प्रदर्शन मेरे आवास पर किया, उसका इस बात से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि सिर्फ 15-20 व्यक्ति प्रदर्शन में आये. जिसमें से एक भी व्यक्ति मालवीय नगर विधानसभा का नहीं था और 600 पुलिस वाले थे. इन्हें केजरीवाल के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं मिल रहा है.‌गुजरात में बीजेपी की बहुत करारी हार होने वाली है. भारत वर्ष अब अरविंद केजरीवाल को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहता है. इसी बात को लेकर इनकी सारी घबराहट है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें