scorecardresearch
 

दिल्ली सरकार के 'जॉब पोर्टल' पर नौ लाख से अधिक नौकरियां मौजूद, 10 लाख वैकेंसी फुल

श्रम एवं रोजगार मंत्री गोपाल राय ने बताया कि रोजगार पोर्टल पर अभी तक 6271 कंपनियों ने 22 लाख जॉब पोस्ट किया है. दिल्ली सरकार जॉब पोर्टल के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अगले सप्ताह से गली-मोहल्लों में पोस्टर अभियान की शुरुआत कर रही है.

गोपाल राय ने कहा 10 लाख वैकेंसी फुल (फाइल फोटो) गोपाल राय ने कहा 10 लाख वैकेंसी फुल (फाइल फोटो)

  • 27 जुलाई को लॉन्च किया गया था एक वेब पोर्टल
  • बाजार पोर्टल पर अभी तक 22 लाख जॉब पोस्ट

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के दौरान कई लोगों की नौकरी चली गई. दिल्ली सरकार ने इन बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के लिए 27 जुलाई को एक वेब पोर्टल लॉन्च किया. इस पोर्टल पर नौ लाख ये अधिक नौकरियां उपलब्ध हैं. वहीं नौकरी पाने के लिए अब तक इन पोर्टल पर 8 लाख 64 हजार लोगों ने आवेदन भी भेज दिया है. जॉब पोर्टल पर पोस्ट की गई नौकरियों का सत्यापन कराने के बाद डबलिंग और मालिकों द्वारा सही जवाब नहीं देने पर करीब 3.5 लाख जॉब को रद्द भी किया गया है.

श्रम एवं रोजगार मंत्री गोपाल राय ने बताया कि रोजगार बाजार पोर्टल पर अभी तक 6271 कंपनियों ने 22 लाख जॉब पोस्ट किया है. साथ ही, दिल्ली सरकार जॉब पोर्टल के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अगले सप्ताह से गली-मोहल्लों में जाकर एक पोस्टर अभियान की भी शुरुआत की जा रही है.

दिल्ली सरकार ने बताया कि 10 लाख वैकेंसी को कंपनियों ने क्लोज किया है. इसका अर्थ यह है कि इन कंपनियों को या तो कर्मचारी मिल गए हैं या प्रक्रिया चल रही है. आज की तारीख में पोर्टल पर 9 लाख वैकेंसी अभी बची हैं, जहां कंपनी को कर्मचारियों की जरूरत है. जॉब पोर्टल पर उपलब्ध नौ लाख वैकेंसी की अपेक्षा जॉब तलाशने वालों की संख्या कम है. अभी पोर्टल पर लगातार वैकेंसी पोस्ट की जा रही हैं. पोर्टल पर 6271 कंपनियों ने अलग-अलग तरह की जॉब पोस्ट की हैं.

दिल्ली: उद्योगपतियों से सीएम केजरीवाल की मीटिंग, अर्थव्यवस्था को गति देने पर जोर

सबसे अधिक जॉब पोस्ट करने वाली कंपनियों में से मुख्य रूप से आदित्य बिड़ला समूह, Amazon, फ्लिपकार्ट, एचडीएफसी लाइफ, कोटक महिंद्रा, शंग्रीला, असम टी, जी फोर एस सिक्योरिटी, अंबा एम्ब्राइडरी आदि कंपनियां हैं.

वहीं, दिल्ली में लोग जिस तरह की नौकरी खोज रहे हैं, उसमें सबसे अधिक बैक ऑफिस, डाटा एंट्री, टीचिंग, कस्टमर सपोर्ट, टेली कॉलर, सेल्स, मार्केटिंग बिजनेस, वेयर हाउस, लाइटिंग, रिसेप्सनिस्ट, एचआर, एडमिन, आईटी हार्डवेयर व नेटवर्किंग और डिलीवरी की डिमांड है.

रोजगार मंत्री गोपाल राय ने कहा कि सरकार के पास एक सिस्टम है. इससे पता चला है कि पहली बार हमारे सिस्टम के संपर्क में आने वाले लोगों की संख्या 12 लाख 57 हजार है. इन लोगों का हमारे ऐप के जरिए संपर्क हुआ है.

कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला एअर इंडिया का विमान, दो हिस्सों में टूटा

उन्होंने कहा कि ऐप पर एक विकल्प है, जिस पर आप क्लिक करेंगे, तो आपका संपर्क सीधे इंम्प्लायर और नौकरी तलाशने वालों से होगा. इसके बाद उनके मिलने और बायोडाटा का सिस्टम अलग होता है. अभी हम देखें तो 10 लाख जो वैकेंसी थी, वो फुल हो गई हैं या उनसे बातचीत चल रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें