scorecardresearch
 

IPS अफसर की फोन टैपिंग पर बोला SC- लग रहा है लोगों की निजता बची ही नहीं

कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा है कि ऐसा लग रहा है देश में अब लोगों की निजता बची ही नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि अफसर व परिवारवालों के फोन टैप क्यों हो रहे हैं?

फोन टैपिंग मामले पर SC ने की सख्त टिप्पणी फोन टैपिंग मामले पर SC ने की सख्त टिप्पणी

  • IPS अफसर के फोन टैपिंग पर SC में हुई सुनवाई
  • सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ सरकार को लगाई फटकार
  • कोर्ट ने फोन टैपिंग को लेकर जताई गहरी चिंता

आईपीएस अफसर के फोन टैपिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ सरकार को कड़ी फटकार लगाई है. साथ ही कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा है कि ऐसा लग रहा है देश में अब लोगों की निजता बची ही नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि अफसर व परिवारवालों के फोन टेप क्यों हो रहे हैं? सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को कहा कि फिलहाल अफसर के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं होगी.

यह मामल आईपीएस अफसर से जुड़ा है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में छत्तीसगढ़ सरकार पर अपने परिवार के सदस्यों के फोन टैप कराने का आरोप लगाया है. इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में छतीसगढ़ सरकार पर सवाल उठाए थे और राज्य सरकार से चार नवंबर तक जवाब मांगा था.

सोमवार को फिर इस मसले पर सुनवाई हुई, जिसमें फोन टैपिंग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उसे फोन टेप की ज्यादा चिंता है. कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा, 'ऐसा लग रहा है देश में अब लोगों की निजता बची ही नहीं, रोज कुछ न कुछ होता है.'

ये टिप्पणी करते हुए कोर्ट ने छत्तीसगढ़ सरकार को आदेश दिया कि फिलहाल अफसर के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं होगी. अब इस केस की अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें