scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़: श्रीराम का ननिहाल बनेगा सुंदर, कौशल्या मंदिर को संवारेंगे बघेल

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के काम के आगाज के साथ ही बीजेपी देश भर में राममय माहौल बनाने की कोशिश में है. वहीं, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने रायपुर के पास भगवान राम की माता कौशल्या का भव्य मंदिर को संवारने के साथ श्रद्धालुओं के लिए उचित व्यवस्था की रूप रेखा तैयार की है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल

  • छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनाएगी माता कौशल्या का मंदिर
  • सीएम भूपेश बघेल राम से जुड़े तमाम स्थलों को संवारने में जुटे

राम मंदिर के लिए पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करेंगे. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के काम के आगाज के साथ बीजेपी देश भर में राममय माहौल बनाने की कोशिश में है. वहीं, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने रायपुर के पास भगवान राम की माता कौशल्या का भव्य मंदिर को संवारने के साथ श्रद्धालुओं के लिए उचित व्यवस्था की रूप रेखा तैयार की है. इसके अलावा महर्षि वाल्मीकि के आश्रम को भी विकसित करने की योजना बनाई है.

सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, 'प्रभु श्री राम के ननिहाल चंदखुरी का सौंदर्य अब पौराणिक कथाओं के नगरों जैसा ही आकर्षक होगा. राजधानी रायपुर के निकट स्थित इस गांव के प्राचीन कौशल्या मंदिर के मूल स्वरूप को यथावत रखते हुए, पूरे परिसर के सौंदर्यीकरण की रूपरेखा तैयार कर ली गई है. जय सियाराम.'

ये भी पढ़ें: रामभक्त बने दिग्विजय और कमलनाथ, भूमिपूजन में नहीं कांग्रेस साथ

भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, 'छत्तीसगढ़ में न केवल प्रभु राम की माता कौशल्या का जन्म हुआ, रामायण के माध्यम से रामकथा को दुनिया के सामने लाने वाले महर्षि वाल्मीकि ने भी इसी भूमि पर आश्रम का निर्माण कर साधना की. ऐसी भी मान्यता है कि लव-कुश का जन्म इसी आश्रम में हुआ था. जय सियाराम.'

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश सरकार ने कौशल्या माता के जन्म-स्थल चंदखुरी की तरह तुरतुरिया के वाल्मीकि आश्रम को भी पर्यटन-तीर्थ के रूप में विकसित करने के लिए कार्य की रूप-रेखा तैयार कर ली है. तुरतुरिया को ईको टूरिज्म स्थल के रूप में विकसित करने की योजना है.

दरअसल, राम मंदिर निर्माण के साथ ही अयोध्या का कयाकल्प किया जा रहा है. इसके लिए सरकार ने काफी तैयारियां कर ली है. ऐसे में कांग्रेस शासित राज्य भी भगवान राम से जुड़े स्थानों को संवारने और सजाने की कवायद कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार राम वन गमन पथ के महत्वपूर्ण स्थानों को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित कर रही है और अब माता कौशल्या के जन्मस्थान चंदखुरी में भव्य मंदिर बनाने का प्लान बनाया है.

ये भी पढ़ें: भूमि पूजन के लिए सजी रामनगरी, अयोध्या पहुंच योगी ने लिया तैयारियों का जायजा

मुख्यमंत्री बघेल ने दावा किया है कि छत्तीसगढ़ श्रीराम का ननिहाल है और वनवास के दौरान यहां उन्होंने काफी समय बिताया. सीएम ने ट्वीट कर कहा कि हमारी महत्वाकांक्षी राम वन गमन पथ विकास परियोजना में शामिल चंदखुरी में यह पूरा कार्य 15 करोड़ 75 लाख रुपये की लागत से किया जाएगा. योजना के मुताबिक चंदखुरी में मंदिर के सौंदर्यीकरण और परिसर विकास का कार्य दो चरणों में पूरा किया जाएगा.

योजना के मुताबिक चंदखुरी को पर्यटन-तीर्थ के रूप में विकसित किया जाना है, इसलिए वहां स्थित प्राचीन कौशल्या माता मंदिर के सौंदर्यीकरण के साथ-साथ नागरिक सुविधाओं का विकास भी किया जाएगा. बता दें कि बीते 22 दिसंबर को चंदखुरी स्थित माता कौशल्या मंदिर के सौंदर्यीकरण के लिए भूमि-पूजन किया गया था. सीएम ने तालाब पर एक पुल और सभी सुविधाओं से युक्त धर्मशाला और शौचालय आदि का निर्माण करने का आदेश दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें