scorecardresearch
 

पटना में लोगों के टॉयलेट से सड़ गया पुल! सफाई में बोले- 'मेरे किडनी में स्टोन है'

Patna News: राजेन्द्र नगर रेलवे लाइन के ऊपर बने ब्रिज पर टॉयलेट करने की वजह से पुल का एक हिस्सा सड़ गया है, जिसे रेलवे फिर से दुरुस्त करने में लगा है. स्थानीय लोगों का कहना है कि पुल को टॉयलेट प्वाइंट बना दिया गया है.

X
पटना का राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पुल.
पटना का राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पुल.

बिहार की राजधानी पटना से चौंकाने वाला मामला सामने आया  है. राजेन्द्र नगर रेलवे स्टेशन पर बने पुल पर लोगों के टॉयलेट करने से पुल का एक हिस्सा सड़ गया है. बताया जा रहा है कि मछुआ टोली की तरफ से आने वाले और कंकड़बाग की तरफ जाने वाले लोग इस पुल पर टॉयलेट करते रहते हैं. इस वजह से पुल पर लगा लोहे का एक हिस्सा बुरी तरह से खराब हो गया. स्थानीय लोगों का कहना है कि पुल को टॉयलेट प्वाइंट बना दिया गया है. लोग कहीं से भी आएं और जाएं, पर टॉयलेट इस पुल के नीचे करते हैं. 

जब Aajtak की टीम ने लोगों से पुल पर टॉयलेट करने की वजह जाननी चाहिए तो लोग अजीब बहाने बनाने लगे. किसी ने कहा कि किडनी में स्टोन है तो किसी ने कहा कि वह बहुत देर से टॉयलेट नहीं गया था. कुछ ने अपनी गलती मानी और फिर दोबारा पुल पर ऐसा ना करने की कसम खाई.

रेलवे लाइन का यह पुल राजेन्द्र नगर की तरफ से गुजरता है. पुल के ठीक बीच लोग मूत्र करते हैं, जिसके कारण टॉयलेट के एसिड की वजह से पुल में लगा लोहे का एक हिस्सा बुरी तरह सड़ गया. अब रेलवे उस खराब पार्ट को निकालकर ठीक करा रहा है. 

पुल पर साफ लिखा है- 'इस जगह टॉयलेट करते पकड़े जाने पर 500 रुपये जुर्माना देना होगा.' हालांकि, इसे गंभीरता से लागू नहीं किया गया है. जब आज तक की टीम ने राजेंद्र नगर स्टेशन के अधिकारियों से जानना चाहा तो उन्होंने 'मैं बाइट देने का अधिकारी नही हूं' कहकर पल्ला झाड़ लिया.

आम लोगों का कहना है कि इस रोकने के लिए गंभीर कानून बनाकर सख्ती से लागू करने की जरूरत है. जिस प्रकार शराबबंदी और हेलमेट न पहनने को लेकर लोगों पर जुर्माना कानून का पालन करवाया जाता है, उसी तरह से इसे सख्ती के साथ लागू करने की जरूरत है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें