scorecardresearch
 

बिहार के श्रमिकों को दोयम दर्जे का नागरिक समझती है केंद्र सरकारः तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने इस बात को लेकर नाराजगी जताई कि अन्य राज्यों में लॉकडाउन के दौरान जब प्रवासी मजदूर बिहार लौटने का प्रयास कर रहे थे तो वहां पर उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ.

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव

  • विपक्षी दलों की बैठक में तेजस्वी यादव भी हुए थे शामिल
  • बिहार के श्रमवीर नहीं निकले तो ठप होगी अर्थव्यवस्था

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को कहा कि बिहार लौटे प्रवासी मजदूर अगर वापस अन्य राज्यों में काम करने नहीं जाएंगे तो देश की अर्थव्यवस्था ठप हो जाएगी. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई विपक्ष की बैठक में तेजस्वी यादव ने यह बात कही.

तेजस्वी ने कहा कि बिहार लौटे प्रवासी मजदूर दोबारा अन्य प्रदेशों में काम करने के लिए नहीं जाना जाता है क्योंकि वहां के लोग बिहारियों को गाली देते हैं और कहते हैं कि बिहारी बीमारी लेकर आएगा.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

तेजस्वी यादव ने इस बात को लेकर नाराजगी जताई कि अन्य राज्यों में लॉकडाउन के दौरान जब प्रवासी मजदूर बिहार लौटने का प्रयास कर रहे थे तो वहां पर उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ और उन्हें लाठियां भी खानी पड़ीं.

तेजस्वी यादव ने कहा, “बिहारी मजदूरों के साथ दुर्व्यवहार हुआ. जहां उन्हें रोटी मिलनी चाहिए थी, वहां उन्हें लाठी मिली. अगर बिहारी श्रमवीर बिहार से बाहर नहीं निकलेंगे तो देश की अर्थव्यवस्था ठप हो जाएगी.”

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर हमला करते हुए बैठक के दौरान केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह बिहार के प्रवासी मजदूरों को दूसरे दर्जे का नागरिक समझती है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव के हमले का जवाब देते हुए कहा कि वह खाते बिहार का है और गाते दूसरे प्रदेशों का हैं. तेजस्वी पर तंज कसते हुए नीरज कुमार ने कहा कि उन्हें इस बात की ज्यादा चिंता है कि बिहार के लोग अगर दूसरे राज्यों में नहीं जाएंगे तो वहां लगे उद्योगों और अर्थव्यवस्था का क्या होगा?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें