scorecardresearch
 

सोनिया से मुलाकात के बाद तेजस्वी बोले- बिहार में मजबूती से चलेगी महागठबंधन की सरकार

बिहार में नीतीश कुमार बीजेपी का साथ छोड़ने के बाद फिर से महागठबंधन में शामिल हो गए हैं. नीतीश कुमार ने 7 दलों के 164 विधायकों के समर्थन का दावा किया है. पिछले दिनों उन्होंने 8वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. वहीं तेजस्वी यादव ने फिर से डिप्टी सीएम का संभाल लिया है. 

X
दिल्ली में तेजस्वी ने विपक्ष के दिग्गज नेताओं से मुलाकात की (फाइल फोटो)
दिल्ली में तेजस्वी ने विपक्ष के दिग्गज नेताओं से मुलाकात की (फाइल फोटो)

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव शुक्रवार को दिल्ली पहुंचे. यहां उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव डी राजा से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने कहा कि बिहार में महागठबंधन की नई सरकार मजबूती के साथ चलेगी. यह गरीब और जनता की सरकार है. नई सरकार ने बीजेपी को तमाचा मारा है.

तेजस्वी यादव ने कहा कि हमारा संविधान और लोकतंत्र खतरे में है. बीजेपी ने हिंदू और मुसलमानों को लड़ाने का काम किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी पर सांप्रदायिक तनाव के आधार पर देश पर राज करना चाहती है. गंगा-जमुना तहजीब को बिगाड़ना चाहती. सबने देखा कि बीजेपी ने महाराष्ट्र में क्या किया, झारखंड में क्या कर रही थी.

उन्होंने कहा कि पूरा विपक्ष एक रहेगा. उन्होंने कहा कि लालू यादव, सोनिया गांधी, सीताराम येचुरी और डी राजा धार्मिक सद्भाव को बिगाड़ने वालों के सामने कभी नहीं झुके. उन्होंने कहा कि बिहार का दृश्य पूरे देश में दिखने वाला है. लोकतंत्र की जननी बिहार ने फिर से देश को दिशा दिखाई है.

संवैधानिक संस्थाओं को बर्बाद किया जा रहा

डिप्टी सीएम ने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं को बर्बाद किया जा रहा है. ईडी और सीबीआई की हालत पुलिस थाने से खराब हो गई है. ईडी और सीबीआई को डराने-धमकाने का टूल बना दिया गया है लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं. हम टिकाऊ हैं. उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय पार्टियां पिछड़ों और दलितों की हैं. ये लोग (बीजेपी) रीजनल पार्टियों को खत्म करना चाहते हैं.

वहीं जब मीडिया ने डिप्टी सीएम से बिहार में जंगलराज रिटर्न पर सवाल किया तो उन्होंने कहा- जंगलराज में खड़े होकर आप जंगलराज की बात करोगे. जंगलराज तो केंद्र में है, जहां सांसद तक चूं नहीं कर सकता. यह तानाशाही है. उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय के आंकड़े देखिए कि बिहार कहां है और दिल्ली कहां है, जहां पीएम रहते हैं.

बीजेपी को हम रोजगार के मुद्दे पर खींच लाए

तेजस्वी ने गिरिराज सिंह के ट्वीट का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी अब हमसे पूछ रही है कि रोजगार का क्या होगा यानी उनको हम मुद्दे पर ले आए हैं. उसने जब 10 लाख रोजगार देने के वादे पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि रोजगार पर जो हमने कहा है वह होगा बस इंतजार का थोड़ा मजा लीजिए.

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मीडिया हमसे रोजगार के बारे में सवाल पूछते रहे हैं, अच्छी बात है, लेकिन जिन्होंने (बीजेपी) 8 साल में 16 करोड़ और हर साल 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, उनसे आप सवाल नहीं पूछते. उन्होंने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी से लोग त्रस्त हैं. 

बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया था कि तेजस्वी यादव ने 2020 में कहा था कि हम आएंगे तो 10 लाख नौकरी देंगे. जब उनसे पूछा गया कि अब आप आ गए हैं तो 10 लाख नौकरी का क्या होगा? तो तेजस्वी यादव कहते हुए नजर आते हैं कि देखिए अभी तो हम मुख्यमंत्री नहीं बने हैं, मैंने कहा था कि जब हम मुख्यमंत्री बनेंगे तब नौकरी देंगे.

बिहार में नई सरकार बीजेपी के मुंह पर तमाचा 

तेजस्वी यादव ने कहा- नीतीशजी ने हम पर और हमने उन पर आरोप लगाए लेकिन वो सब घर की बात थी. अब देशहित में हम सब साथ हैं. नीतीशजी ने मेरे लिए कहा था- बाबू बैठ जाओ जो प्यार था और उन्होंने यह भी कहा था कि यह मेरे भाई सामान दोस्त का बेटा है.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें