scorecardresearch
 

बिहारः पत्नी पर लगे आरोप को 'बिग डील' नहीं मानते अशोक चौधरी, तेजस्वी ने साधा निशाना

बिहार तक' से बातचीत के दौरान भवन निर्माण और समाज कल्याण विभाग मंत्री अशोक चौधरी ने नीतीश कुमार पर लगे आरोप को लेकर कहा था कि सिर्फ आरोप लगाने से कुछ नहीं होता है.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री अशोक चौधरी (फाइल-ट्विटर) बिहार के स्वास्थ्य मंत्री अशोक चौधरी (फाइल-ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने अशोक चौधरी पर साधा निशाना
  • तेजस्वी यादव बोले, बीवी का भ्रष्टाचार नॉट ए बिग डील
  • इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बोला था हमला

भ्रष्टाचार के आरोपों में बिहार सरकार के मंत्री मेवालाल चौधरी के इस्तीफा देने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ है कि एक और मंत्री अशोक चौधरी की पत्नी से जुड़ा भ्रष्टाचार का मामला फिर सुर्खियों में आ गया है. डॉ. मेवालाल चौधरी के बाद अब प्रदेश में JDU के कार्यकारी अध्यक्ष और मंत्री अशोक चौधरी की चर्चा है. JDU नेताओं ने कल शनिवार को मेवालाल चौधरी के बहाने विपक्षी नेता तेजस्वी यादव पर जमकर निशाना साधा था. JDU ये जताना चाहती है कि भ्रष्टाचार से जुड़े मामले के तूल पकड़ते ही उन्होंने मेवालाल को मंत्री पद से हटा दिया जबकि तेजस्वी यादव पर कई गंभीर धाराओं में केस होने के बावजूद वो एक बार फिर से नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी संभालने जा रहे हैं. JDU ने तेजस्वी से राजनीतिक शुचिता का प्रदर्शन करने को कहा.

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से अशोक चौधरी पर हमला बोला. उन्होंने एक ट्वीट पर रिएक्शन देते हुए लिखा है, 'साहित्यिक चोरी के दोषी मुख्यमंत्री माननीय नीतीश जी के मुकुट मणि, JDU के कार्यकारी अध्यक्ष और मंत्री श्री अशोक चौधरी की पत्नी पर बैंक से करोड़ों की धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप है, CBI जांच कर रही है, कोर्ट में केस है. इनकी निष्कपटता देखिए, कहते हैं बीवी का भ्रष्टाचार नॉट ए बिग डील.'

दरअसल 'बिहार तक' से बातचीत के दौरान भवन निर्माण और समाज कल्याण विभाग के मंत्री अशोक चौधरी ने नीतीश कुमार पर लगे आरोप को लेकर कहा था कि सिर्फ आरोप लगाने से कुछ नहीं होता है. जब तक चार्जशीटेड नहीं होता है उसका कोई मतलब नहीं है.

इसके बाद 'बिहार तक' ने उनसे पूछा कि आपकी पत्नी पर बैंक से धोखाधड़ी का एक मामला है और वह चार्जशीटेड हैं. सीबीआई ने उन्हें चार्जशीट किया था. मामला अभी भी अंडर ट्रायल है. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में हम लोग लड़ेंगे. इससे पहले हाई कोर्ट के फैसले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बिना हम लोगों को सुने ही फैसला दे दिया था इसलिए फिर से सुप्रीम कोर्ट में केस लड़ेंगे. व्हाट्स ए बिग डील अबॉट इट. हमारा पक्ष सुना नहीं गया है, जब तारीख आएगी तो हम लोग अपनी बात रखेंगे. हमारा केस हाई कोर्ट से खारिज है. तो आगे लड़ेंगे. व्हाट्स ए बिग डील. 

अशोक चौधरी के इसी साक्षात्कार को शेयर करते हुए विपक्षी नेता तेजस्वी यादव ने सत्ता पक्ष पर हमला बोला.

देखें: आजतक LIVE TV 

तेजस्वी यादव नीतीश कुमार के नए कार्यकाल के शुरुआत से ही भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर उन पर हमला कर रहे हैं. तेजस्वी यादव ने इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला था और दावा किया कि उनकी नई सरकार के 14 मंत्रियों में से आठ पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. 

राष्ट्रीय जनता दल नेता ने यह खबर शेयर करते हुए ट्वीट किया, "नीतीश कुमार के 14 में से 8 मंत्रियों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज है.. ख़बरदार अगर कोई नैतिकता, सुशासन और लोकलाज की बात करेगा.. बदलाव के जनादेश के विपरीत अनैतिक सरकार बनाते ही नीतीश जी ने रोजी-रोटी, नौकरी, समान काम-समान वेतन, कृषि ऋण माफ़ी, बिजली दर कम करना, पुरानी पेंशन लागू करना, संविदाकर्मियों की मांगों को पूर्ण करना और शिक्षा पर बजट का 22 फ़ीसदी खर्च करने जैसे सकारात्मक मुद्दों को छोड़ नकारात्मकता को गले लगा लिया है."

तेजस्वी ने मेवालाल चौधरी को लेकर भी कई ट्वीट किए थे और नीतीश सरकार पर भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया था. बाद में शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. (इनपुट- उत्कर्ष) 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें