scorecardresearch
 

सुशांत केस की CBI जांच की सिफारिश, RJD बोली- हमारे CM इतने स्लो क्यों?

राष्ट्रीय जनता दल ने बिहार सरकार पर निशाना साधा है. पार्टी ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री स्लो हैं क्या. उन्होंने सीबीआई जांच की सिफारिश में इतनी देर क्यों की.

सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो) सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो)

  • सीएम ने सीबीआई जांच की सिफारिश में इतनी देर क्यों की: RJD
  • 'बिहार पुलिस की काबिलियत तो बिहार रोज ही देखता है'

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है. बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने बिहार सरकार पर अब निशाना साधा है. पार्टी ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री स्लो हैं क्या. उन्होंने सीबीआई जांच की सिफारिश में इतनी देर क्यों की.

आरजेडी की ओर से ट्वीट किया गया कि कोरोना, बाढ़, मजदूरों का आगमन और अब सुशांत सिंह राजपूत केस. सीबीआई जांच की सिफारिश में इतनी देर क्यों. पार्टी ने कहा कि तेजस्वी यादव ने 30 जून को ही कोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच की मांग की थी. पार्टी ने पुलिस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि बिहार पुलिस की काबिलियत तो बिहार रोज ही देखता है. सृजन, बालिका गृह...

ये भी पढ़ें- नीतीश कुमार ने आजतक को बताया, क्यों की सुशांत केस की CBI जांच की सिफारिश

tweet_080420043131.png

इस बीच नीतीश कुमार ने सीबीआई जांच की सिफारिश केंद्र को भेज दी है. उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह की मांग पर हमने मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा केंद्र को भेज दी है.

नीतीश कुमार ने क्या बोला

इससे पहले आजतक से नीतीश कुमार ने कहा कि आज मेरी बात सुशांत सिंह राजपूत के पिता से हुई. उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की. उनकी मांग के आधार पर राज्य सरकार सीबीआई जांच की सिफारिश करेगी.

ये भी पढ़ें- सुशांत सुसाइड केस में बिहार सरकार ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

बता दें कि सुशांत के पिता केके सिंह ने नीतीश कुमार से बात करके सीबीआई जांच की मांग की थी. सुशांत के वकील विकास सिंह ने अपने बयान में कहा था कि मुंबई पुलिस जांच में अड़ंगा लगा रही है. पहली बार ऐसा हुआ है कि जांच अधिकारियों को काम नहीं करने दिया जा रहा है. नीतीश कुमार से निवेदन किया है कि वह इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें