scorecardresearch
 

सुशांत के पैसे हड़पना चाहती थीं रिया और उनका परिवार, बिहार पुलिस का हलफनामा

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती मामले में बिहार और महाराष्ट्र की सुप्रीम जंग जारी है. आईपीएस अफसर विनय तिवारी के क्वारनटीन के खिलाफ कल रात याचिका दाखिल की गई.

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो) एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो)

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती मामले में बिहार और महाराष्ट्र की सुप्रीम जंग जारी है. बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई में क्वारनटीन करने के खिलाफ गुरुवार रात को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल हुई. इस याचिका पर सुनवाई से पहले बीएमसी ने आईपीएस विनय तिवारी को छोड़ने का आदेश जारी कर दिया है.

बताया जा रहा है कि सुशांत सिंह मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएस विनय तिवारी को क्वारनटीन करने पर सवाल उठाया था. क्वारनटीन के खिलाफ दाखिल हैबियस कॉरपस याचिका में कहा गया है कि मुंबई में बिहार पुलिस के अफसर को सुशांत सिंह की मौत के मामले की जांच करने देने की बजाए क्वारनटीन कर दिया गया, जो कि अवैध हिरासत है.

बिहार सरकार ने SC में दाखिल किया हलफनामा, रिया के खिलाफ गंभीर आरोप

याचिका में कहा गया कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी का वर्चुअल हाउस अरेस्ट उनके मौलिक अधिकारों का हनन और विपरीत है, क्योंकि 14 दिनों के क्वारनटीन के दिशा-निर्देश उनके लिए लागू नहीं होता. यह याचिका सामाजिक कार्यकर्ता नलिन एम मिश्रा ने दाखिल की है.

बिहार सरकार ने दाखिल किया हलफनामा

उधर, बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है. बिहार पुलिस की माने तो रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के सदस्यों का सुशांत सिंह राजपूत के संपर्क में रहने का मकसद पैसे को हड़पना था. बिहार पुलिस ने कहा कि रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार ने बाद में सुशांत की मानसिक बीमारी की झूठी तस्वीर तैयार कर दी.

अपने हलफनामे में बिहार पुलिस का कहना है कि मुंबई पुलिस के पूर्ण असहयोग के बावजूद उसको जांच में कई सुराग मिले. बिहार पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि चूंकि जांच बिंदु भारत में कई स्थानों पर बिखरे हुए हैं, इस वजह से सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय आत्महत्या की सीबीआई जांच का सुझाव दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें