scorecardresearch
 

RJD सांसद मनोज झा को पाकिस्तान जाने की नहीं मिली इजाजत, केंद्र सरकार पर साधा निशाना

मनोज झा ने बताया कि उन्हें गृह मंत्रालय से एफसीआर मंजूरी दी गई थी. लेकिन विदेश मंत्रालय ने राजनीतिक कारणों का हवाला देते हुए अनुमति देने से इनकार कर दिया गया. आरजेडी सांसद ने आवेदन खारिज किए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. झा ने बताया कि आसमा जहांगीर पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली कार्यकर्ता थीं.

X
मनोज झा (फाइल फोटो)
मनोज झा (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राज्यसभा सांसद मनोज झा को पाकिस्तान जाने की इजाजत नहीं मिली है. यह जानकारी खुद मनोज झा ने दी. मनोज झा ने बताया कि केंद्र सरकार ने उनकी पाकिस्तान यात्रा को राजनीतिक स्वीकृति देने से मना कर दिया. 

मनोज झा को पाकिस्तान के लाहौर में मानवाधिकार कार्यकर्ता आसमा जहांगीर की याद में 23 अक्टूबर को आयोजित कार्यक्रम 'लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा में राजनीतिक दलों की भूमिका' में लेक्चर देने के लिए जाना था. 

मनोज झा ने बताया कि उन्हें गृह मंत्रालय से एफसीआर मंजूरी दी गई थी. लेकिन विदेश मंत्रालय ने राजनीतिक कारणों का हवाला देते हुए अनुमति देने से इनकार कर दिया गया. आरजेडी सांसद ने आवेदन खारिज किए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. मनोज झा ने कहा कि यह यात्रा उन्हें लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए लड़ाई में भारतीय राजनीतिक दलों की महान परंपरा को रेखांकित करने का मौका देती. 

झा ने बताया कि आसमा जहांगीर पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली कार्यकर्ता थीं. उनका 2018 में निधन हो गया था. उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय से विदेशी अनुदान (नियमन) अधिनियम संबंधी मंजूरी मिल गई थी. लेकिन विदेश मंत्रालय ने उन्हें राजनीतिक स्वीकृति नहीं दी. 

उन्होंने कहा कि उन्हें भारतीय संसद की ओर से यह बताने का मौका मिलता कि हम जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए सड़कों पर और संसद में कैसे लड़ते हैं. मनोज झा के मुताबिक, उन्हें 20 अक्टूबर को वाघा बॉर्डर के रास्ते पाकिस्तान जाने और 24 अक्टूबर को भारत लौटना था. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें