scorecardresearch
 

CAA: पटना में अश्विनी चौबे का विरोध, छात्रों ने दिखाए काले झंडे

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन जारी है. गुरुवार को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को छात्रों के विरोध का सामना करना पड़ा. पटना विश्वविद्यालय के गेट पर छात्रों ने उन्हें काला झंडा दिखाया.

अश्विनी चौबे (फाइल फोटो) अश्विनी चौबे (फाइल फोटो)

  • पटना विश्वविद्यालय पर छात्रों ने अश्विनी चौबे को दिखाया काला झंडा
  • नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन जारी है. गुरुवार को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को छात्रों के विरोध का सामना करना पड़ा. पटना विश्वविद्यालय के गेट पर छात्रों ने उन्हें काला झंडा दिखाया.

पटना विश्वविद्यालय के गेट पर विश्वविद्यालय के छात्रों के जरिए नागरिकता संशोधन कानून (CAA)और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के विरोध में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे पर को काला झंडा दिखाया गया. इसके अलावा उन पर काली स्याही भी फेंकी गई. स्याही फेंकने वाले सभी पटना यूनिवर्सिटी के छात्र हैं.

यह भी पढ़ें: CAA: असम सरकार का प्रस्ताव, नागरिकता पाने के लिए 3 महीने में करें आवेदन

बता दें कि देश के कई इलाकों में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं. इस दौरान कई जगहों पर हिंसा भी देखने को मिली है. बिहार में भी सीएए और एनआरसी का विरोध देखने को मिला. इस दौरान बिहार बंद भी किया गया.

क्या है नागरिकता संशोधन कानून?

नागरिकता अधिनियम, 1955 में बदलाव करने के लिए केंद्र सरकार नागरिकता संशोधन बिल लेकर आई. बिल को संसद में पास करवाया गया और राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद यह कानून बन गया. अब सरकार ने इसका नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है. इसके साथ ही अब पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान से आए हुए हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई, पारसी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिलने में आसानी होगी. अभी तक उन्हें अवैध शरणार्थी माना जाता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें