scorecardresearch
 

यात्री ने किया इंडिगो की फ्लाइट में बम होने का दावा, पटना एयरपोर्ट पर ग्राउंडेड किया गया विमान

पटना एयरपोर्ट से उड़ान भर रही इंडिगो की एक फ्लाइट में बम होने की खबर के बाद हड़कंप मच गया. तत्काल एक्शन लेते हुए फ्लाइट को उड़ान भरने से रोक दिया गया. इसके बाद इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E2126 की तलाशी ली गई.

X
बम की सूचना के बाद पटना एयरपोर्ट पर तलाशी अभियान चलाया गया. बम की सूचना के बाद पटना एयरपोर्ट पर तलाशी अभियान चलाया गया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E2126 में किया गया था बम होने का दावा
  • तलाशी के बाद अब कल सुबह रवाना होगी फ्लाइट

पटना एयरपोर्ट से उड़ान भर रही एक फ्लाइट में यात्री ने बम होने का दावा किया. जानकारी मिलने के बाद फ्लाइट को टेक ऑफ करने से रोक दिया गया. फ्लाइट को ग्राउंडेड किए जाने के बाद उसकी तलाशी ली गई. हालांकि, यात्री के दावे के मुताबिक फ्लाइट से बम बरामद नहीं हुआ. अब फ्लाइट को तलाशी पूरी होने के बाद कल सुबह रवाना किया जाएगा.

आज तक से बात करते हुए पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने इस घटना की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E2126 के उड़ान भरते समय ऋषि चंद सिंह नाम के यात्री ने दावा किया कि उसके पास एक बम है. जिसके बाद फ्लाइट को रद्द कर पूरे विमान की तलाशी ली गई. पुलिस ने ऋषि चंद सिंह को हिरासत में ले लिया है. पूछताछ की जा रही है.

बम निरोधक दस्ते ने फ्लाइट की बारीकी से जांच की. हालांकि फ्लाइट से कुछ नहीं मिला है, लेकिन एहतियात के तौर पर उड़ान रद्द कर दी गई और सभी यात्रियों को फ्लाइट से उतार लिया गया. एयरपोर्ट पुलिस का दावा है कि फ्लाइट में बम होने का दावा करने वाला यात्री ऋषि चंद सिंह मानसिक रूप से अस्वस्थ है. तलाशी अभियान पूरा होने के बाद फ्लाइट को कल सुबह रवाना किया जाएगा. 

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार किसी न किसी वजह से फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग के मामले सामने आ रहे हैं. गुरुवार को ही एयर इंडिया की फ्लाइट AI 934 (दुबई-कोच्चि) को उड़ान के दौरान कम दबाव का सामना करने के बाद मुंबई के लिए डायवर्ट कर दिया गया और फ्लाइट की मुंबई में सुरक्षित लैंडिंग करा दी गई. एयर इंडिया बोइंग फ्लीट एयरक्राफ्ट टाइप बी787 में 21 जुलाई को कुछ दिक्कत को लेकर सूचना दी गई, जिसके बाद फ्लाइट को डायवर्ट कर मुंबई लैंडिंग कराई गई.

फ्लाइट के कैप्टन ने IOCC को सूचना दी कि प्रेशराइजेशन लॉस का सामना करना पड़ रहा था. DAS WR के 2 वरिष्ठ अधिकारियों को प्रारंभिक जांच का काम सौंपा गया है. सूत्रों के मुताबिक, केबिन में दबाव कम होने के बाद यात्रियों ने ऑक्सीजन मास्क लगाए थे. पिछले कुछ दिनों में ऐसी कई घटनाएं हुई हैं. जिनमें स्पाइसजेट, विस्तारा और मंगलवार को गोएयर की उड़ानें विभिन्न गड़बड़ियों के बाद प्रभावित हुईं. मंगलवार को सरकार ने बताया कि उसे पिछले तीन महीनों में एयर इंडिया के खिलाफ लगभग 1000 यात्री शिकायतें मिली हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें