scorecardresearch
 

देश में नरेंद्र मोदी, बिहार में नीतीश कुमार का नहीं है विकल्पः सुशील मोदी

सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जैसे संसदीय चुनाव से पहले विरोधी दलों के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विकल्प नहीं दे पाए, उसी तरह महागठबंधन बिहार में नीतीश कुमार का विकल्प नहीं दे पाएगा.

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटोः आज तक) बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटोः आज तक)

  • कहा, संसदीय चुनाव की सफलता बिहार चुनाव में भी दोहराएगा एनडीए
  • एमएलसी संजय पासवान ने की थी सीएम पद बीजेपी को देने की मांग

भारतीय जनता पार्टी के नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने महागठबंधन पर निशाना साधने के बहाने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का खूब गुणगान किया है. उन्होंने कहा है कि जिस तरह देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विकल्प विपक्ष के पास नहीं है, ठीक वैसे ही बिहार में नीतीश कुमार का भी कोई विकल्प नहीं है.

सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जैसे संसदीय चुनाव से पहले विरोधी दलों के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विकल्प नहीं दे पाए, उसी तरह महागठबंधन बिहार में नीतीश कुमार का विकल्प नहीं दे पाएगा. उन्होंने दावा किया कि एनडीए विधानसभा चुनाव में संसदीय चुनाव की सफलता को शानदार आकंड़ों के साथ दोहराएगा.

इसके पहले विदेश यात्रा से पटना लौटते ही सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि नीतीश कुमार ही बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के कप्तान हैं और उनके नेतृत्व में ही 2020 का विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा. बीजेपी के भीतर से नीतीश के नेतृत्व पर उठाए जा रहे सवाल को भी उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया था.

सुशील कुमार मोदी का कहना है कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी. उन्होंने महागठबंधन पर निशाना साधते हुए ये जरूर कहा कि महागठबंधन के पास यदि बिहार के विकास का कोई वैकल्पिक और विश्वसनीय रोडमैप होता, तो वे बताते कि एनडीए सरकार के विकास से बड़ी लकीर खींचने के लिए वे क्या-क्या करेंगे. जिनके पास राज्य की बेहतर सेवा का कोई विजन ही नहीं, वे सीएम-उम्मीदवार पर रोज बयानबाजी करने के सिवा कर भी क्या सकते हैं?

सुशील मोदी के इस ट्वीट से पटना से लेकर दिल्ली तक बीजेपी नेताओं में खलबली मच गई थी. पार्टी के कई नेताओं ने तो सुशील मोदी के इस बयान को सिरे से खारिज कर दिया था. गौरतलब है कि बिहार एनडीए में मुख्यमंत्री पद को लेकर सियासत उस समय तेज हो गई, जब बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान ने बीते दिनों नीतीश कुमार से मुख्यमंत्री की कुर्सी सहयोगी दल को सौंपने की मांग खुले तौर पर कर दी थी.

इसके बाद बीजेपी के सीपी ठाकुर ने भी कह दिया कि 2020 में मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा, इसका फैसला बीजेपी का आलाकमान करेगा. अभी बिहार में एनडीए का नेतृत्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं, लेकिन 2020 में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा यह अभी तय नहीं है. हालांकि, सीपी ठाकुर ने ही जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के 'नारे क्यों करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार' पर भी आपत्ति जताई थी. उन्होंने कहा था कि नीतीश अच्छा काम कर रहे हैं तो फिर यह कामचलाऊ नारा क्यों?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें