scorecardresearch
 

तलाक केस: तेज प्रताप और ऐश्वर्या की 45 मिनट हुई काउंसलिंग लेकिन नहीं बनी बात, 19 जुलाई को HC में फिर सुनवाई

ऐश्वर्या राय और तेज प्रताप यादव की शादी 2018 को पटना में हुई थी. छह महीने बाद तेज प्रताप यादव ने पटना के फैमिली कोर्ट में तलाक का केस दाखिल कर दिया था. वहीं मंगलवार को तेज प्रताप अपनी मां और पूर्व सीएम राबड़ी देवी के साथ पटना हाईकोर्ट पहुंचे जबकि ऐश्वर्या राय अपने पिता चंद्रिका राय के साथ पहुंचीं.

X
2018 में पटना में तेज प्रताप और ऐश्वर्या की हुई थी शादी (फाइल फोटो) 2018 में पटना में तेज प्रताप और ऐश्वर्या की हुई थी शादी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2018 में पटना में हुई थी दोनों की शादी
  • अगली सुनवाई में दोनों को होना है पेश

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव और पत्नी ऐश्वर्या राय के तलाक मामले में मंगलवार को पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई हुई. इस दौरान तकरीबन 45 मिनट तक शादी बचाने के लिए दोनों की काउंसलिंग की गई. पटना हाई कोर्ट के न्यायधीश जस्टिस आशुतोष कुमार और जस्टिस जितेंद्र कुमार की बेंच में इस मामले की सुनवाई बंद कमरे में हुई. 

सूत्रों के मुताबिक कोर्ट की कार्यवाही के दौरान ऐश्वर्या ने तेज प्रताप के साथ रहने पर सहमति जताई लेकिन तेज प्रताप ने साफ कह दिया कि वह ऐश्वर्या के साथ नहीं रहना चाहते हैं. इस पूरे मामले को लेकर अब अगली सुनवाई 19 जुलाई को होनी है.कोर्ट ने दोनों को भी कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया है.

हाईकोर्ट में ऐश्वर्या की तरफ से सीनियर अधिवक्ता पीएन शाही ने पक्ष रखा तो वहीं तेज प्रताप की तरफ से अधिवक्ता थे जगन्नाथ सिंह. सुनवाई के लिए तेज प्रताप अपनी मां राबड़ी देवी तो ऐश्वर्या अपने पिता चंद्रिका राय के साथ आई थीं.

शादी के 6 महीने के बाद ही बिगड़ गए थे रिश्ते

पटना में तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या की शादी 2018 में हुई थी, लेकिन 6 महीने के बाद ही तेज प्रताप ने ऐश्वर्या के साथ तलाक लेने का फैसला कर लिया. उन्होंने पटना के सिविल कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर कर दी थी. इस दौरान ऐश्वर्या राय ने कोर्ट से सुरक्षा की मांग की थी.

तेज प्रताप की  मर्जी के खिलाफ हुई थी शादी

तलाक लेने के फैसले पर तेज प्रताप ने कहा था कि वह एक साधारण जिंदगी गुजारने वाले व्यक्ति हैं जबकि ऐश्वर्या मॉडर्न मिजाज की हैं. उसके साथ जिंदगी गुजारना नामुमकिन है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि यह शादी उनकी मर्जी के खिलाफ की गई थी. दो राजनीतिक परिवारों के बीच हुए रिश्ते का वो मात्र एक मोहरा हैं. उन्होंने कहा कि वे एक घुटन भरी जिंदगी नहीं जी सकते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें