scorecardresearch
 

Begusarai firing case: जानिए कौन हैं बेगूसराय गोलीकांड के चारों आरोपी, एक तो चलती ट्रेन में धरा गया

बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग के मामले में पुलिस ने युवराज, केशव, अर्जुन और सुमित को गिरफ्तार किया है. ये चारों आरोपी बेगूसराय के रहने वाले हैं. पुलिस ने सुमित, अर्जुन और युवराज को गुरुवार रात को बेगूसराय से गिरफ्तार किया था. जबकि आरोपी केशव को झाझा से गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने अपराधियों की जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम का भी ऐलान किया था.

X
बिहार के बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग मामले में चार गिरफ्तार
बिहार के बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग मामले में चार गिरफ्तार

बिहार के बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग की घटना के 72 घंटे बाद पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. बेगूसराय में मंगलवार को शाम करीब साढ़े पांच बजे बदमाशों ने नेशनल हाइवे 28 पर  जमकर खूनी तांडव मचाया था. बदमाशों ने 30 किमी के क्षेत्र में गोलियां बरसाई थीं. इस दौरान 10 लोगों को गोली लगी थी. इसमें एक शख्स की मौत हो गई थी. पुलिस का दावा है कि उसने इस शूटआउट में शामिल सभी 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. 

जानिए कौन हैं चारों आरोपी ?

बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग के मामले में पुलिस ने युवराज, केशव, अर्जुन और सुमित को गिरफ्तार किया है. ये चारों आरोपी बेगूसराय के रहने वाले हैं. पुलिस ने सुमित, अर्जुन और युवराज को गुरुवार रात को बेगूसराय से गिरफ्तार किया था. जबकि आरोपी केशव को झाझा से गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने अपराधियों की जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम का भी ऐलान किया था.

मुख्य आरोपी केशव गिरफ्तार

मुख्य आरोपी ट्रेन से गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, केशव कुमार उर्फ नागा गुरुवार शाम को हथिदह स्टेशन पर मौर्य एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होकर देवघर अपने बुआ के यहां जा रहा था. इसी दौरान पुलिस ने उसे झाझा रेलवे स्टेशन के पास गिरफ्तार कर लिया है. केशव को ही शूटआउट का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है. केशव कुमार एफसीआई ओपी थाना क्षेत्र के बीच गांव का रहने वाला है. वह रांची भागने की फिराक में था. 
 
क्या है मामला?

बेगूसराय में मंगलवार को 40 मिनट तक सड़कों पर  ताबड़तोड़ फायरिंग की थी. बदमाश दो बाइकों पर सवार थे. नेशनल हाइवे 28 पर चार थाना क्षेत्रों से निकलते हुए 30 किलोमीटर तक बदमाशों ने 10 लोगों को गोली मारी थी. इसमें  31 साल के चंदन कुमार की मौत हो गई थी. बदमाश वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए थे. इसके बाद आरोपियों की धर-पकड़ के लिए तीन टीमें बनाई गई थीं. पुलिस की लापरवाही को देखते हुए सात पुलिसकर्मियों को निलंबत किया गया था. बदमाशों ने फुलवरिया, बछवाड़ा, तेघडा और चकिया थाना इलाकों में फायरिंग की थी. घटना के बाद पुलिस ने बेगूसराय को सील कर दिया था. पटना, समस्तीपुर, खगडिया, नालंदा, लखीसराय जिलों में नाकेबंदी की गई थी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें