scorecardresearch
 

शुक्रवार को छुट्टी को लेकर भड़के गिरिराज सिंह, कहा- शरिया कानून थोपने की कोशिश

बिहार के कुछ सरकारी स्कूलों में रविवार की जगह शुक्रवार को छुट्टी दिए जाने को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विवादित बयान दिया है. उन्होंने पटना में पत्रकारों से बात करते हुए इसे देश में शरिया कानून थोपने की कोशिश बताया है.

X
गिरिराज सिंह ने फिर दिया विवादित बयान
गिरिराज सिंह ने फिर दिया विवादित बयान

बिहार के कई सरकारी स्कूलों में रविवार की जगह शुक्रवार को साप्ताहिक छुट्टी दिए जाने को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विवादित बयान दिया है. गिरिराज सिंह ने बिहार के सरकारी उर्दू स्कूलों में शुक्रवार को साप्ताहिक छुट्टी को शरिया कानून थोपने की कोशिश करार दिया है.

बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह ने कहा, 'शुक्रवार को स्कूलों में छुट्टी देना  "शरिया कानून को लागू करने" का प्रयास है'. उन्होंने कहा, "बचपन से, हम जानते हैं कि रविवार को स्कूल और कार्यालय बंद रहते हैं. शुक्रवार को कुछ संस्थानों में छुट्टियां मुझे एक समुदाय के लाभ के लिए शरिया कोड लागू करने का प्रयास लगता है," 

उन्होंने पटना में पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में यह बयान दिया है. बता दें कि बिहार के कटिहार समेत कई जिलों में सरकारी स्कूलों में रविवार की जगह शुक्रवार को छुट्टी दी जाती है जिसकी परंपरा दशकों से चली आ रही है. हालांकि अब यह बीजेपी और अन्य दलों के बीच विवाद का विषय बन गया है.

बिहार के सरकारी स्कूलों में साप्ताहिक छुट्टी का यह विवाद अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी के बीच कलह का कारण बन गई है.

दिलचस्प बात यह है कि उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद सहित राज्य मंत्रिमंडल में बीजेपी के जो मंत्री और विधानसभा में पार्टी के नेता हैं वो इस विवाद से बचने की कोशिश कर रहे हैं.

बता दें कि बिहार के कटिहार में इन दिनों कई सरकारी मध्य विद्यालयों और उत्क्रमित मध्य विद्यालयों में अभी भी रविवार की जगह शुक्रवार को ही साप्ताहिक छुट्टी हो रही है, जिसको लेकर सवाल उठे हैं. शिक्षा विभाग के मुताबिक, कटिहार में अभी 100 स्कूलों में शुक्रवार को साप्ताहिक छुट्टी दी जाती है. 

खासतौर पर अल्पसंख्यक बहुल इलाकों के सरकारी स्कूल में शुक्रवार को छुट्टी दी जा रही है. बता दें कि इससे पहले सरकारी स्कूलों में रविवार की जगह शुक्रवार को छुट्टी को लेकर विवाद हो चुका है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें