scorecardresearch
 

'जय श्री राम' बोलने पर फतवा, पहले मांगी माफी फिर नीतीश से मिलकर दी सफाई

खुर्शीद अहमद ने कहा कि मैं इमारत शरिया का सम्मान करता हूं. उन्हें फतवा जारी करने से पहले मेरा इरादा पूछना चाहिए था. मुझे डर क्यों होना चाहिए? हम सभी इंसान हैं और इस्लाम का कहना है कि किसी से नफरत नहीं करो. आपको प्रेम फैलाना चाहिए.

मंत्री खुर्शीद अहमद मंत्री खुर्शीद अहमद

बिहार में नीतीश सरकार में मंत्री खुर्शीद अहमद के खिलाफ फतवा जारी हो गया है. खुर्शीद अहमद के खिलाफ ये फतवा इमारत शरिया द्वारा जारी किया गया. दरअसल, मंत्री ने 'जय श्री राम' का नारा लगाया था, जिस कारण उसके खिलाफ फतवा जारी किया गया है.

फतवा जारी होने के बाद खुर्शीद अहमद के तेवर ठंडे पड़ गए हैं. इस्लाम से बाहर किए जाने के फतवे से मंत्री ने अपने बयान को लेकर माफी मांग ली है. साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार से मिलकर पूरे मामले पर सफाई दी.

फतवा जारी होने पर मंत्री ने कहा कि भगवान जानता है कि 'जय श्री राम' के नारे लगाने के पीछे मंशा क्या थी. मेरा काम बताएगा कि मैं कौन हूं. अगर मुझे बिहार के लोगों के लिए विकास और सामंजस्य के लिए 'जय श्री राम' कहना पड़ता है तो मैं कभी इससे पीछे नहीं हटूंगा. बिहार के लिए मैं 100 बार 'जय श्री राम' बोलूंगा.

खुर्शीद अहमद ने कहा कि मैं इमारत शरिया का सम्मान करता हूं. उन्हें फतवा जारी करने से पहले मेरा इरादा पूछना चाहिए था. मुझे डर क्यों होना चाहिए? हम सभी इंसान हैं और इस्लाम का कहना है कि किसी से नफरत नहीं करो. आपको प्रेम फैलाना चाहिए. राम और खुदा एक है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें