scorecardresearch
 

सुशील मोदी ने RJD मंत्री सुरेंद्र यादव के अपराधों की खोली कुंडली, नीतीश कुमार से की बर्खास्त करने की मांग

बीजेपी सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार महागठबंधन सरकार पर लगातार हमलावर बने हुए हैं. वह एक-एक करके जेडीयू और आरजेडी के नेताओं की पोल खोल रहे हैं. एक दिन पहले ही उन्होंने जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह पर चारा घोटाला, आईआरसीटीसी घोटाला, जमीन के बदले नौकरी में घोटाला मामले में लालू और तेजस्वी के खिलाफ सीबीआई को सबूत देने के का दवा किया था. 

X
सुशील मोदी ने अब आरजेडी मंत्री सुरेंद्र यादव पर बोला हमला (फाइल फोटो)
सुशील मोदी ने अब आरजेडी मंत्री सुरेंद्र यादव पर बोला हमला (फाइल फोटो)

बीजेपी सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार ने राजद विधायक सुरेंद्र यादव को महागठबंधन सरकार में खान मंत्री बनाने को लेकर सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. उन्होंने दावा किया कि सुरेंद्र का कथित तौर पर लंबा आपराधिक रिकॉर्ड है.

उन्होंने रविवार को पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया कि सुरेंद्र यादव के खिलाफ कई आपराधिक मामले लंबित हैं. इनमें नाबालिग से यौन शोषण, 1998 में संसद में महिला आरक्षण विधेयक की कॉपी फाड़ना, अतुल अपहरण कांड, मेडिकल छात्रों पर फायरिंग, खुद व्यापारियों से झगड़ा, कांग्रेस के पूर्व विधायक की निर्मम पिटाई के मामले शामिल हैं.

सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश ने सुरेंद्र कुमार को अपने मंत्रिमंडल में शामिल कर राज्य को शर्मसार किया है. उन्होंने मांग की कि गंभीर आपराधिक मामलों के आरोपी और भ्रष्टाचार के आरोपों में चार्जशीटेड लोगों को अविलम्ब मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करें.

लाल कृष्ण आडवाणी से छीन ली थी विधेयक की कॉपी

सुशील मोदी ने नीतीश कुमार की आलोचना करते हुए कहा कि सुरेंद्र यादव ने 1998 में लोकसभा में लाल कृष्ण आडवाणी से महिला आरक्षण विधेयक की प्रति छीन कर उसे फाड़ दिया था. इस घटना ने देश को शर्मसार किया था. उन्होंने आगे कहा कि 2011 में सुरेंद्र यादव के बॉडीगार्ड्स ने तीन मेडिकल छात्रों पर गोली चलाकर उन्हें घायल कर दिया था. पूर्व डिप्टी सीएम ने आरोप लगाया कि सुरेंद्र यादव ने 2018 में नाबालिक का यौन शोषण किया था. उन पर पीड़िता का चेहरा सार्वजनिक करने के मामले में पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज है. 

ट्रेन में घुसकर पुलिस कस्टडी से अतुल को उठा लाया था सुरेंद्र 

बीजेपी सांसद ने आरोप लगाया कि झारखंड में प्रेम प्रकाश के घर से दो एके-47 बरामद हुईं, उसका संबंध सुरेंद्र यादव से है. 2006 में प्रेम प्रकाश राज भवन स्टेट बैंक में पदाधिकारी था. उसने चारा घोटाले के राजनेताओं के करोड़ों की राशि अपने पास रखी थी. इस मामले में प्रेम प्रकाश के भाई अतुल प्रकाश को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस अतुल प्रकाश को लेकर ट्रेन से बिहार आ रही. तभी गया में सुरेंद्र यादव ने पुलिस कस्टडी से अतुल को ट्रेन से उतार कर घर में बंद कर यातनाएं दी थीं. इस मामले में सुरेंद्र को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा और जेल में रहना पड़ा था.

2012 के शराब कांड में आरोपी था सुरेंद्र यादव का भाई

पूर्व उपमुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि सुरेंद्र यादव के भाई राजकुमार उर्फ ​​मंटू यादव की 9.26 करोड़ की संपत्ति 2014 में प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त की गई थी. राजकुमार के खिलाफ यह कार्रवाई 2012 में जहरीली शराब कांड में 20 लोगों की मौत के बाद की गई थी. सुरेंद्र यादव के भाई राजकुमार पर हत्या और रंगदारी के 11 मामले दर्ज हैं.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें