scorecardresearch
 

'नीतीश 1982 में खाक छान रहे थे और मैं IAS था', औकात की बात पर बोले RCP सिंह

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि जब वो (नीतीश कुमार) कुछ नहीं थे और टिकट के लिए घूम रहे थे, तब हम 1982 में आईएएस बन चुके थे, वो क्या हमको पहचान देंगे और हमारी औकात नापेंगे, नीतीश कुमार नेवी की परीक्षा दिए थे लेकिन फेल हो गए और हम आईएएस के परीक्षा में पूरे भारत मे 13वां रैंक लाये थे.

X
पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह (File Photo)
पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह (File Photo)

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. आरा में सीधा संवाद कार्यक्रम के दौरान आरसीपी सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार मेरी औकात क्या नापेंगे, उनकी खुद की औकात ही नहीं, जब एक समय बिहार में नीतीश कुमार की औकात कुछ न थी, उनसे मेरी औकात तब भी ज्यादा थी और अब भी ज्यादा है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि जब वो (नीतीश कुमार) कुछ नहीं थे और टिकट के लिए घूम रहे थे, तब हम 1982 में आईएएस बन चुके थे, वो क्या हमको पहचान देंगे और हमारी औकात नापेंगे, नीतीश कुमार नेवी की परीक्षा दिए थे लेकिन फेल हो गए और हम आईएएस के परीक्षा में पूरे भारत मे 13वां रैंक लाये थे.

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के पूर्व नेता और राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह ने कहा कि कोई किसी को पहचान नहीं देता, लोकतंत्र के इस देश मे सभी नागरिक एक सम्मान हैं. बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर आरसीपी सिंह ने कहा कि मेरे लिए सारे दरवाजे खुले हैं, अभी हम सिर्फ अपने कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं, आगे क्या होगा अभी मैं खुद नहीं जानता हूं.

बातचीत के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के निशाने पर सीएम नीतीश कुमार ही रहे. नीतीश कुमार के पीएम चेहरा बनने के सवाल पर आरसीपी सिंह ने कहा कि ममता बनर्जी, अखिलेश यादव समेत कई नेता दावेदार हैं, जो खुद को (नीतीश कुमार) इतना बड़ा नेता मानता हो वो उन शख्सियतों को क्या नेता मानेगा.

RCP सिंह का नाम सुनते ही भड़क गए थे नीतीश

पिछले दिनों ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जब आरसीपी सिंह को लेकर सवाल पूछा गया तो वह आगबबूला हो गए थे. सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि क्या घटिया नाम ले रहे हैं, किसकी हैसियत क्या है, ये भी तो देखिए, आगे से अब उनका नाम मेरे सामने ना लें, वो थे क्या एक आइएएस, उन्हें निजी सचिव किसने बनाया, राजनीति में लेकर कौन आया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि मैंने ही उन्हें (आरसीपी सिंह) राजनीति सिखाई, पार्टी में पद दिया और बीजेपी के साथ मिलकर साजिश कर रहे थे. सीएम नीतीश कुमार ने कहा था, 'अरे उसका क्या नाम ले रहे हैं. कौंची है ऊ, उसकी हैसियत क्या है, क्या वैल्यू है उसकी. मुझसे उसके बारे में सवाल मत पूछिये.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें