scorecardresearch
 

गृह मंत्री अमित शाह से मिले JDU सांसद, जोर पकड़ रही जाति आधारित जनगणना की मांग

बिहार (Bihar) में जाति आधारित जनगणना (Caste Based Census) की मांग जोर पकड़ रही है. इसी कड़ी में जदयू के सांसद ललन सिंह (Lalan Singh) गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिले.

जेडीयू सांसद ललन सिंह (फाइल फोटो-PTI) जेडीयू सांसद ललन सिंह (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • JDU सांसद ललन सिंह ने अमित शाह से की मुलाकात
  • पीएम मोदी से मिलेंगे बिहार के सीएम नीतीश कुमार

बिहार (Bihar) में जाति आधारित जनगणना (Caste Based Census) की मांग जोर पकड़ रही है. इसी कड़ी में जदयू के सांसद ललन सिंह (Lalan Singh) गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिले.

उन्होंने कहा कि जाति आधरित जनगणना की मांग हमलोगों की शुरू से रही है. बिहार की विधानसभा में दो बार 2019 और 2020 में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कर इसे केंद्र सरकार को भेजा गया है. इसमें हमारी पार्टी भी शामिल रही, बीजेपी भी और राजद भी.

उन्होंने आगे कहा कि पहले हमने पीएम से समय मांगा था उनके यहां से सूचना आई कि गृह मंत्री से मिलकर ज्ञापन दें. हमारे लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों ने कहा कि हम इसपर चर्चा करेंगे. हमारी मांग जाति आधारित जनगणना की है.1931 में जाति के आधार पर जनगणना हुई उसके बाद आज तक नहीं हुई. अब जो दावे होते है उसको जोड़ लिया जाए तो हिंदुस्तान की आबादी तीन गुना हो जाएगी. वर्ग के हिसाब से नीति बनाते है इसलिए भी यह जानना जरूरी है.

उन्होंने कहा कि हम नहीं जानते है कि बीजेपी के नेता सहमत है या नहीं लेकिन बिहार की विधानसभा ने 2019 और 2020 में दो बार प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास किया है और उसमें बीजेपी भी शामिल रही है.

जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर एक हुए विरोधी दल

बिहार से उठ रही जाति आधारित जनगणना की मांग पर यहां की राजनीतिक पार्टियां एक होती नजर आ रही हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीते शुक्रवार को अपने धुर राजनीतिक विरोधी और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से इस मुद्दे पर मुलाकात की थी.

नीतीश ने यह भी कहा कि जातिगत जनगणना कराने के लिए वह पीएम मोदी को सोमवार को पत्र लिखेंगे. साथ ही नीतीश कुमार ने साफ कर दिया कि सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल जातिगत जनगणना को कराने के लिए प्रधानमंत्री से भी मिलेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें